Nainital-Haldwani News

हिमालयन डिजिटल मीडिया एसोसिएशन ने पत्रकार दिनेश पांडे को दी अहम जिम्मेदारी


Ad
Ad

हल्द्वानी: डिजिटल युग की शुरुवात के साथ ही डिजिटल मीडिया की स्वीकार्यता भी बढ़ती जा रही है । मीडिया के इस नए प्रारूप को पारदर्शी और ग्राह्य बनाने की दिशा में कार्य करने की भारी जरूरत महसूस की जा रही थी ।  चूंकि यह माध्यम मीडिया के अन्य प्रारूप के इतर है भारत सरकार द्वारा डिजिटल मीडिया के लिए सुझाये नियमों की जटिलता, इस नए माध्यम में आ रही तकनीकी दिक्कतों से निजात पाने के लिए एक साझा मंच की आवश्यकता लंबे समय से महसूस की जा रही थी । जिसके समाधान की दिशा में एक कदम बढ़ा लिया गया है ।

Ad
Ad

हिमालयन डिजिटल मीडिया एसोसिएशन का विधिवत ऐलान हो गया है । एसोसिएशन ने सोमवार से विधिवत अपना कार्य सुचारू कर दिया है संस्था का उद्द्येश्य सभी डिजिटल मीडिया से जुड़े पत्रकारों को नई तकनीकी से जोड़ना, उनके अधिकारों का संरक्षण और उन्हें संरक्षण प्रदान करना है । संस्था जल्द ही अन्य राज्यों में भी सदस्यता अभियान चलाएगी ।

एचडीएमए के अध्यक्ष तेजपाल नेगी ने बताया कि हिमालयी राज्यों में मीडिया के नए प्लेटफार्म डिजिटल मीडिया से जुड़े सभी लोगों को एक मंच पर लाने के उद्देश्य से गठित की गई हिमालयन डिजिटल मीडिया एसोसिएशन ने विधिवत रूप से काम करना शुरू कर दिया है। आज संस्था की केंद्रीय कार्यकारिणी ने सर्व प्रथम अपने आवेदन पत्र भरने की औपचारिकता पूरी करके संस्था के सदस्यता अभियान का शुभारंभ किया ।

यह भी पढ़ें 👉  रेलवे अतिक्रमण हल्द्वानी, PWD ने 25 जेसीबी और 25 पोकलैंड मंगवाने की तैयारी शुरू की

संस्था डिजिटल मीडिया से जुड़े सभी लोगों को एक मंच पर लाकर सूचना के इस अत्याधुनिक माध्यम को भारत सरकार से मान्यता दिलाने के लिए संस्था काम करेगी। उन्होंने बताया कि संस्था का कार्यक्षेत्र भारत के हिमालयी राज्यो में में रहेगा। इस संस्था से उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नागालैंड, सिक्किम, त्रिपुरा, असम, लद्दाख और जम्मू-कश्मीर के डिजिटल मीडिया के संचालकों व कर्मचारियों को जोड़ा जाएगा।

एचडीएमए के महासचिव ओपी पांडे ने बताया कि संस्था का सदस्यता शुल्क दो सौ रूपये वार्षिक रहेगा। सदस्यता अभियान आज से शुरू कर दिया गया है। सदस्यता लेने के लिए डिजिटल मीडिया से जुड़े लोगों को फार्म का एक लिंक उपलब्ध कराया जा रहा है, जिसे भरे कर आन लाइन सबमिट कराया किया जा सकता है , इसके बाद संस्था की समीक्षा समिति आवेदन पत्र पर निर्णय लेगी । जिसकी सूचना सदस्य के व्हाट्सअप और ईमेल के माध्यम से संबंधित व्यक्ति को सदस्यता शुल्क जमा करने के लिए सूचना देगी। इसके बाद सदस्य को संस्था द्वारा सदस्यता प्रमाणपत्र जारी किया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड हाईकोर्ट ने उत्तराखंड क्रिकेट संघ को दी राहत, सचिव और प्रवक्ता की गिरफ्तारी पर रोक
https://forms.gle/JhGj6UpgxEC5izjr9


सदस्यता अभियान के प्रभारी व उपाध्यक्ष दिनेश पांडे ने बताया कि अनेकानेक माध्यमों से आवेदन फार्म का लिंक प्रसारित किया जाएगा। जिससे डिजिटल मीडिया से जुड़े लोग संस्था की सदस्यता के लिए आवेदन कर सकते हैं। अभी सदस्यता अभियान के अंतिम तिथि घोषित नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि इच्छुक व्यक्ति लिंक पर क्लिक करके आवेदन पत्र फार्म खोल सकते हैं आवश्यक कर्यवाही पश्चात । इसे सबमिट किया जा सकता है ।

संस्था के उपाध्यक्ष महेंद्र नेगी ने बताया कि संस्था को हिमालयी राज्यों में विस्तारित करने के लिए वृहद रूपरेखा तैयार की जा रही है। वहीं संस्था के कोषाध्यक्ष पंकज पांडे ने कहा कि सीघ्र संस्था का खाता खोल जा रहा है, ताकि सदस्य अपनी सदस्यता शुल्क सीधे बैंक खाते में ही जमा कर सकें। सदस्यता समिति के वरिष्ठ सदस्य राहुल दरम्वाल ने बताया कि संस्था की सदस्यता डिजिटल मीडिया से जुड़ा कोई भी व्यक्ति ले सकता है। उन्होंने बताया कि प्रिंट या इलैक्ट्रानिक मीडिया के साथ यदि कोई व्यक्ति डिजिटल मीडियम में काम करता है तो वह भी संस्था का सदस्य बन सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल रोड के पास निर्माणाधीन बिल्डिंग में मिला शव,पहले भी बिल्डिंग में मिल चुकी हैं दो बॉडी

सदस्यता समिति के सदस्य जीवन राज ने कहा कि सदस्यता अभियान को तेजी के साथ शुरू कर दिया गया है। प्रापत होने वाले आवेदनों पर जल्द ही निर्णय लेकर व्हाट्सअप व मेल के माध्यम से उन्हें सदस्यता शुल्क जमा करने के लिए सूचित किया जाएगा। संस्था के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुरेश पाठक ने दूरभाष पर कहा कि डिजिटल मीडिया के विस्तार और पत्रकारिता के मानदंडों पर खरा उतरने के उद्देश्य हेतु संस्था समय समय पर प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन भी करेगी । एचडीएमए के संरक्षक गिरीश जोशी ने कहा कि संस्था की सदस्यता डिजिटल मीडिया से जुड़ा कोई भी व्यक्ति ले सकता है। उन्होंने कहा कि जल्द उत्तराखंड सहित अन्य प्रदेशो में संस्था की इकाई बनाई जाएगी। ताकि डिजिटल मीडिया से जुड़े लोग अपनी आवाज उठा सकें और वहां की सरकारों के समाने समस्याएं उठाई जा सकें।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top