Nainital-Haldwani News

JCP चलाएगी भ्रष्टचारियों पर JCB,भावना पांडे ने हल्द्वानी से चुनाव लड़ने का किया ऐलान



हल्द्वानी: गुरुवार को हल्द्वानी में राज्य आंदोलनकारी भावना पांडे ने प्रेसवर्ता की। उन्होंने इस दौरान आगामी विधानसभा चुनाव में अपनी रणनीति के बारे में बताया और पूर्व में रही सरकारों को आड़े हाथों लिया। भावना पांडे ने कहा कि राज्य को बने 20 साल पूरे हो गए हैं लेकिन जिन परेशानियों को लेकर हमने राज्य की मांग की थी वह अबी भी जीवित हैं। इसका मतलब साफ है कि जनता के साथ छल किया है। केवल चुनावों में उन्हें याद किया जाता है। भाजपा विकास के नाम पर तीन मुख्यमंत्री बदलती है और कांग्रेस 5 प्रदेश अध्यक्ष बदलती है।

Ad

भावना पांडे ने कहा कि आगामी चुनावों में वह जनता के सामने एक विकल्प के रूप में खड़ी होंगी। उनकी पार्टी जनता कैबिनेट पार्टी 70-70 सीट पर चुनाव लड़ेगी। हमारा मकसद उत्तराखंड की बहनों और युवाओं को आगे बढ़ाना हैं। भाजपा और कांग्रेस ने केवल राज्य को लूटा है। भावना पांडे ने कहा कि वह हल्द्वानी विधानसभा सीट से चुनाव लडेंगी। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपनी टीम तैयार कर ली है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से कांग्रेस प्रत्याशी सुमित हृदयेश ने मां इंदिरा हृदयेश की फोटो साथ रखकर भरा नामांकन

प्रेस वर्ता में उन्होंने कहा कि देहरादून में एक रेस्टो प्यारी पहाड़न रेस्ट्रो खुला है। हमने इसका विरोध किया तो मुझे लेकर गलत जानकारी सोशल मीडिया पर उड़ा दी गई। उन्होंने कहा कि ये रेस्ट्रो का विरोध हम इसलिए कर रहे हैं क्योंकि इसके तार गलत जगह जुड़े हैं। उन्होंने जतिन नाम के शख्स का नाम लिया और कहा कि यहां पर अश्लील इवेंट व पार्टियां कराई जाती है। हमें ऐसा करने वालों को रोकना होगा और अपनी संस्कृति को बचाना होगा। कुछ राजनेता चुनाव को देखते हुए अपनी दाल इस मुद्दे पर गलाने की कोशिश कर रहे हैं और मुझे बदनाम किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से कांग्रेस प्रत्याशी सुमित हृदयेश ने मां इंदिरा हृदयेश की फोटो साथ रखकर भरा नामांकन

भावना पांडे ने कहा कि असली पहाड़न हमारी आशा वर्कर्स है जिन्होंने कोरोना काल में घर-घर जाकर कार्य किया। उनके साथ सरकार सौतेला व्यवहार कर रही है। आशा वर्कर्स ने तमाम स्वास्थ्य योजनाओं को लोगों तक पहुंचाने के काम किया है। कोरोना काल में उन्होंने जो किया उसे कभी नहीं भूला जाएगा। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी भूमि कानून के पक्ष में है और सरकार बनने के बाद उसे लागू करेगी।

To Top