Nainital-Haldwani News

ढील चाहिए लेकिन नियम फॉलो नहीं करना है, ये है हल्द्वानी के हाल


हल्द्वानी: कोरोना वायरस के मामलों में पहले से कमी देखने को मिल रही है। इसका मुख्य कारण हैं सरकार द्वारा जारी  कोरोना कर्फ्यू। इस बार Curfew को पहले से ज्यादा सख्त रखा गया था। विरोध होने के बाद भी ढील नहीं दी गई। लोगों की जान बचानी थी तो सरकार और प्रशासन को अपना सख्त रवैया बरकरार रखना पड़ा। कोरोना Curfew का तीसरा चरण लागू है। वैसे तो कुछ ही घंटे के लिए दुकाने खुल रही है लेकिन इतना समय काफी है पूरी मेहनत पर पानी फेरने के लिए। छूट मिलने के बाद बाजार के इलाकों में आपकों शायद ही अधिक लोग कोरोना वायरस के नियमों का पालन करते दिखेंगे। ना मास्क और ना ही सामाजिक दूरी…..एक तरफ आप प्रशासन से छूट मांग रहे हैं और दूसरी ओर आप ही नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं।

शुक्रवार को 8:00 से 12:00 के बीच राशन और किराना स्टोर सहित ऑटोमोबाइल की दुकानों को खोलने की अनुमति थी। इस दौरान लोग शायद भूल गए कि वह कोरोना काल में जी रहे हैं और तमाम नियमों की धज्जियां उड़ाई गई। भारी भीड़ के चलते शहर में जाम की स्थिति पैदा हो गई।

कोरोना वायरस कोविड-19 को रोकने के लिए सरकार ने सभी से अपील की है कि वह घरों के अंदर ही रहें। जरूरी काम होने पर ही घरों से बाहर निकले लेकिन अधिकतर स्थानों पर बाजार खुलने की छूट फायदा नियमों को तोड़कर उठाया जा रहा है। कई लोगों को बस घर से बाहर निकलने का मौका चाहिए और जब उन्हें कोई पकड़ता है तो उनके पास घर का सामान खरीदी का बहाना होता है। बता दें कि इस सप्ताह के कोविड-19 कर्फ्यू में केवल आज का दिन 8:00 बजे से 12:00 बजे तक राशन किराना वह ऑटो मोबाइल की दुकान खोलने की परमिशन शासन और जिला प्रशासन द्वारा दी गई थी। हल्द्वानी लाइव अपने पाठकों से अपील करता है कि वह अपनी जिम्मेदारी को समझे…. इसी तरह से हम कोरोना वायरस को हरा सकते हैं।

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top