Nainital-Haldwani News

नैनीताल के संजय बिष्ट जम्मू-कश्मीर में शहीद, 15 दिन पहले घर से ड्यूटी पर लौटे थे

Uttarakhand News: Martyr Sanjay Bisht Nainital: देश की रक्षा करते हुए उत्तराखंड के ओर वीर ने अपने प्राण निछावर कर दिए। जम्मू कश्मीर के राजौरी में आतंकियों से मुठभेड़ में नैनीताल जिले के रहने वाले जवान संजय बिष्ट शहीद हो गए। रातीघाट के हली गांव के संजय की शहादत की खबर के सामने आने के बाद पूरे जिले में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। शहादत पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, नैनीताल विधायक सरिता आर्या, डीएम नैनीताल वंदना सिंह समेत तमाम लोगों ने दुख प्रकट किया है और उनके परिजनों के प्रति गहरी सवेदना व्यक्त की हैं।

जानकारी के अनुसार संजय बिष्ट साल 2012 में भारतीय सेना का हिस्सा बनें थे। मुठभेड़़ से कुछ घंटे पहले ही संजय की अपने परिवार वालों से बात हुई थी। संजय के भाई नीरज बिष्ट ने बताया कि संजय 15 दिन पहले ही घर से पोस्ट पर वापस लौटा था। संजय 2012 में आर्मी में भर्ती हुआ था। कल रात ही उसकी परिवार से फोन पर बात हुई थी। संजय के परिवार में पिता दीवान सिंह बिष्ट, माँ मंजू बिष्ट, बहन ममता बिष्ट, विनीत बिष्ट हैं और वह अविवाहित थे।

संजय राजौरी जिले में आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में शहीद हो गए। इस दौरान सेना के 2 कैप्टन समेत चार जवान के शहीद होने की जानकारी सामने आई है। शहादत की खबर सुनते ही उनके परिवार में कोहराम मच गया। संजय के रिश्तेदार और आसपास के ग्रामीणों का उनके घर में जमावड़ा लग गया है। संजय के भाई नीरज बिष्ट ने बताया सेना के अधिकारियों ने उनके 28 वर्षीय भाई संजय की शहादत की जानकारी दी। आज शाम तक संजय का पार्थिव शरीर नैनीताल के खैरना स्थित उनके पैतृक घर पहुंच जाएगा।   

To Top
Ad