News

उत्तर प्रदेश भाजपा से इस्तीफा देने वाले मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी!


Ad
Ad

उत्तरप्रदेश की एक कोर्ट ने ओबीसी नेता स्वामी प्रसाद मौर्य की गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है।  सुल्तानपुर के एमएलए स्वामी प्रसाद मौर्य को  कोर्ट ने धार्मिक भावनाएं भड़काने पर यह वारंट जारी किया है. कोर्ट ने मौर्य को 24 जनवरी तक पेश करने का आदेश दिया है। अगर 24 जनवरी को स्वामी प्रसाद मौर्य कोर्ट के सामने पेश नहीं होते तो स्वामी प्रसाद मौर्य के खिलाफ गिरफ्तारी की कारवाई की जाएगी।

Ad
Ad

गौरतलब है कि साल 2014 में स्वामी प्रसाद मौर्य ने एक विवादित बयान दिया था, इसमें उन्‍होंने कहा था, ‘शादियों में गौरी-गणेश की पूजा नहीं करनी चाहिए. यह मनुवादी व्यवस्था में दलितों और पिछड़ों को गुमराह कर उनको गुलाम बनाने की साजिश है.’इस मामले में 6 जनवरी को कोर्ट ने स्वामी प्रसाद मौर्य को 12 जनवरी 2022 को कोर्ट में पेश होने के लिए कहा था पर बुधवार को स्वामी प्रसाद मौर्य कोर्ट में हाजिर नहीं हुए तो अपर मुख्य दंडाधिकारी एमपी-एमएलए कोर्ट ने उनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया. अब इस मामले में 24 जनवरी को सुनवाई की तारीख तय हुई है.

स्वामी प्रसाद ने इस पूरे मामले पर कहा कि वह कानून का सम्मान करते हैं और 24 जनवरी को कोर्ट में पेश होंगे और उन्हें जो कहना है वह कोर्ट में हाजिर होकर न्यायाधीश के सामने अपनी बात कहेंगे।

इसे एक संयोग ही कहेंगे कि अभी कल ही स्वामी प्रसाद मौर्य ने भाजपा से इस्तीफा दिया और अखिलेश यादव के साथ उनकी तस्वीर सामने आई थी। हालांकि इस मामले में उनके खिलाफ वारंट जारी होना कोई राजनैतिक नहीं बल्कि कानूनी प्रक्रिया का हिस्सा है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top