Uttarakhand News

शहर में रहने के बाद भी देवभूमि को नहीं भूली लेखक अद्वैता काला,शुरू किया प्रोजेक्ट भुल्ली


मशहूर लेखक अद्वैता काला ने अपने देवभूमि के लिए शुरू किया प्रोजेक्ट भुल्ली

देहरादून: पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है। हालात काफी खराब हो गए हैं। भले ही कोरोना वायरस के मामलों की संख्या पिछले दिनों कम हुई हो लेकिन डर अभी भी बरकरार है। उत्तराखंड में भी कोरोना वायरस ने काफी नुकसान पहुंचाया है। कई बच्चों को अनाथ कर दिया है। इस मुश्किल घड़ी में सैकड़ों लोगों ने मदद का हाथ बढ़ाया। प्रत्येक जिले में तमाम संस्थानें मुहिम चला रही हैं ताकि जरूरतमंदों की मदद की जा सके।

Ad

बॉलीवुड के कई लोगों ने भी उत्तराखंड की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। इस लिस्ट में पौड़ी निवासी अद्वैता काला का नाम भी शामिल हो गया है। अद्वैता काला एक फिल्म राइटर हैं। उन्होंने कहानी फिल्म की स्क्रिप्ट लिखने के बाद काफी वाहवाही लूटी थी। वैसे तो वह काम की वजह से गुरुग्राम में रहती हैं लेकिन उत्तराखंड से उनका लगाव कम नहीं हुआ है। मूल रूप से पौड़ी जिले के सुमाड़ी गांव की रहने वाली अद्वैता काला ने अपने पहाड़ के लोगों की मदद के लिए प्रोजेक्ट भुल्ली शुरू किया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में 31 जनवरी से खुलेंगे कक्षा 10वीं से लेकर 12वीं तक के स्कूल, आदेश जारी

कोरोना काल में वह ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना किट का वितरण किया करेंगी। बताया जा रहा है कि इन्हें तैयार कर लिया गया है और एक दो दिन में उत्तराखंड भेजा जाएगा। इन्हें बैरोला, चाका, धारकोट व चोपड्यो गांव में किट बांटी जाएगी। इसके बाद पौड़ी के सुमाड़ी व इसके पास के दो अन्य गांवों में किट वितरण किया जाएगा। इसके अलावा आक्सीजन कंसनट्रेटर व नेबुलाइजर व विभिन्न अन्य माध्यम से भी ग्रामीणों की मदद की जाएगी। अद्वैता काला का कहना है कि हमारी कोशिश हैं तो गांव के उन लोगों को भी ये मदद मिले जिन्हें चिकित्सा की आधारभूत सुविधाओं के लिए जूझना पड़ता है। प्रोजेक्ट भुल्ली को अभिनव बिंद्रा फाउंडेशन ने भी मदद की है। इसके अलावा अद्वैता काला की मित्र दिव्या कपूर भी आगे आई हैं। सभी मिलकर पल्स आक्सीमीटर, डिजिटल थर्मामीटर, सैनिटाइजर, मास्क, पीपीई किट, आवश्यक मुहैया करा रहे हैं।

To Top