Nainital-Haldwani News

CBSE के नए चेयरमैन से मिलिए…नैनीताल के पांडे गांव के मूल निवासी हैं IAS विनीत जोशी


Ad
Ad

नैनीताल: देवभूमि प्रतिभा से भरा प्रदेश है। यहां खेलकूद, पढ़ाई लिखाई से लेकर हर क्षेत्र में अपना अलग नाम बनाने की काबिलियत रखने वाली प्रतिभाएं हैं। इसी कड़ी में आज हम आपको मिलवाने जा रहे हैं विनीत जोशी से। विनीत जोशी को केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा सीबीएसई यानी केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का नया चेयरमैन बनाया गया है। लेकिन क्या आप जानते हैं विनीत जोशी नैनीताल से ताल्लुक रखते हैं।

Ad
Ad

जी हां, सीबीएसई के नए चेयरमैन विनीत जोशी का मूल गांव नैनीताल जिले के कोटाबाग के निकट पांडे गांव में है। इसमें कोई दोराय नहीं कि उत्तराखंड मूल के लोग दूर दूर, बड़े-बड़े पदों पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं। अब कुमाऊं के नैनीताल जिले से ताल्लुक रखने वाले विनीत जोशी को सीबीएसई का नया चेयरमैन बनाया गया है। जो कि नैनीताल के लिए वाकई गर्व की बात है।

बता दें कि विनीत जोशी वर्तमान में शिक्षा मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव तथा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के महानिदेशक के पद पर कार्यरत हैं। केंद्र में कई महत्वपूर्ण पदों पर अपनी सेवाएं दे चुके विनीत जोशी मणिपुर के स्थानीय आयुक्त रह चुके हैं। नैनीताल स्थित लांगव्यू पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य भवन त्रिपाठी ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 1992 बैच के मणिपुर कैडर के आईएएस अधिकारी विनीत जोशी का मूल गांव पांडे गांव में है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड हाईकोर्ट ने उत्तराखंड क्रिकेट संघ को दी राहत, सचिव और प्रवक्ता की गिरफ्तारी पर रोक

गौरतलब है कि उनका परिवार इस गांव में रहने वाला एकलौता जोशी परिवार था। हालांकि काफी पहले उनका परिवार यहां से इलाहाबाद चला गया था। विनीत जोशी के पढ़ाई लिखाई इलाहाबाद के एनी बेसेंट स्कूल और जीआईसी से हुई है। विनीत जोशी ने आईआईटी कानपुर से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की। फिर भारतीय विदेश व्यापार संस्थान से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में पीजी किया।

यह भी पढ़ें 👉  रेलवे अतिक्रमण हल्द्वानी, PWD ने 25 जेसीबी और 25 पोकलैंड मंगवाने की तैयारी शुरू की

बता दें कि विनीत जोशी पहले भी सीबीएसई के चेयरमैन रह चुके हैं। उसी दौरान वह प्राइवेट स्कूलों के प्रधानाचार्य के प्रदेश स्तरीय कार्यशाला में हिस्सा लेने के लिए नैनीताल आए थे। तब वे खुद कोटाबाग निवासी होने की बात स्वीकार चुके हैं। बताया जाता है कि कोटाबाग के पांडे गांव में आज भी उनका पुश्तैनी मकान है। हालांकि पिछले कुछ सालों से वह बंद पड़ा है। विनीत जोशी के परिवार ने आंवलाकोट में भी एक मकान बनवाया था। जो अब किराए पर है। वाकई नैनीताल जिले के लिए विनीत जोशी को सीबीएससी में अहम पद मिलना गर्व की बात है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top