Nainital-Haldwani News

हर शनिवार को हल्द्वानी में जनता दरबार लगाएंगे कमिश्नर दीपक रावत, डायरेक्ट करेंगे संवाद


हर शनिवार को हल्द्वानी में जनता दरबार लगाएंगे कमिश्नर दीपक रावत, डायरेक्ट करेंगे संवाद

हल्द्वानी: आईएएस दीपक रावत (IAS Deepak Rawat) के कुमाऊं कमिश्नर बनने के बाद से ही पूरे मंडल में खुशी है। वाकई यहां की जनता दीपक रावत से पहले से ताल्लुक रखती है। इसी तालमेल को बनाए रखने के लिए उन्होंने एक और कदम उठाया है। अब कमिश्नर रावत हल्द्वानी में हर शनिवार सुबह दस से शाम पांच बजे तक जनता दरबार लगाएंगे।

Ad

कमिश्नर दीपक रावत (Kumaun Commissioner Deepak Rawat) ने हाल ही में अपनी प्राथमिकताएं थीं। जिसमें उन्होंने कुमाऊं को आगे बढ़ाने के प्लान पर जोर दिया था। इस बार भी आईएएस दीपक रावत ने कुमाऊं में रुके बड़े प्रोजेक्टों को आगे चलाने को प्राथमिकता बताया है। इनमें सड़कों पर मुख्य रूप से फोकस किया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी सफलता...नैनीताल पुलिस ने पकड़ी कॉर्बेट में सप्लाई होने वाली 60 लाख की हेरोइन व स्मैक

आईएएस दीपक रावत ने कहा कि राशन कार्ड (ration card), बिजली, पानी आदि में लोगों को मुश्किलें ना हों, इसका ध्यान रखा जाएगा। पब्लिक डीलिंग वाले विभागों का वह खुद भी निरीक्षण करेंगे। इसी दौरान एक अहम निर्णय भी लिया गया। कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने कहा कि वह हर शनिवार (every saturday) 10 बजे से शाम पांच बजे तक कैंप कार्यालय हल्द्वानी में जनता की समस्याओं को सुनेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  गर्व की बात है, देवभूमि की प्रीति धनाई ने इंजीनियरिंग कॉलेज में टॉप कर जीता गोल्ड मेडल

गौरतलब है कि इस कैंप कार्यालय (camp office) कोई भी फरियादी अपनी समस्याएं बता सकता है। लाजमी है कि इससे हल्द्वानी वासियों को काफी फायदा होगा। दीपक रावत की मानें तो पर्यटन के अलावा पर्वतीय क्षेत्र के हर्बल प्रोडेक्ट (Herbal products) के जरिए युवाओं को स्वरोजगार दिए जाने पर काम होगा। इसके लिए सारे सीडीओ को प्राथमिकता के आधार पर काम करने के निर्देश दिए जाएंगे।

यह भी पढ़ें 👉  डीडीहाट नहीं तो क्या रामनगर से ही चुनाव लड़ेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत...?

हल्द्वानी शहर (Haldwani city) में होने वाली जाम की बड़ी समस्या से निजात दिलाने के लिए प्लान बनाए जाने की बात भी कमिश्नर दीपक रावत ने स्वीकारी। उन्होंने बताया कि बड़े मॉलों (Shopping Malls) को लेकर शिकायतें हैं कि पार्किंग (Parking) की जगह पर दुकानें खोल दी गई हैं। जिससे सड़कों पर जाम लग रहा है। इससे छुटकारा दिलाया जाएगा।

To Top