Nainital-Haldwani News

कांग्रेस ने नैनीताल उपाध्यक्ष समेत तीन को किया निष्कासित, हरदा के खिलाफ काम करने का आरोप


Ad
Ad
Ad
Ad

नैनीताल: विधानसभा चुनावों के नतीजों से पहले कांग्रेस में एक बार फिर खलबली मची हुई है। इस बार कांग्रेस ने नैनीताल जिले के तीन पदाधिकारियों को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। इस लिस्ट में नैनीताल जिले के कांग्रेस उपाध्यक्ष भूपाल सिंह सम्मल का नाम भी शामिल है। इन सभी पदाधिकारियों को हरदा के खिलाफ चुनाव प्रचार करने के आरोप में निष्कासित किया गया है।

गौरतलब है कि उत्तराखंड राज्य में 70 विधानसभा सीटों पर मतदान 14 फरवरी को संपन्न हुआ था। जबकि नतीजे 10 मार्च को घोषित किए जाएंगे। ऐसे में सभी पार्टियां अपनी अपनी तरफ से अपने प्रदर्शन का आंकलन करने में लगी हुई हैं। कांग्रेस पार्टी भी लगातार वरिष्ठ नेताओं से फीडबैक ले रही है तो वहीं कांग्रेस कई नेताओं पर अनुशासनात्मक कार्रवाई भी कर चुकी है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में रामा डेंटल,10 साल से कम बच्चों और 65 साल के बुजुर्गों की OPD फ्री

इसी कड़ी में अब नैनीताल जिला उपाध्यक्ष कांग्रेस भूपाल सिंह सम्मल, जिला संगठन मंत्री मनोज पौडियाल और न्याय पंचायत क्षेत्र अध्यक्ष भगवान सिंह सम्मल को कांग्रेस पार्टी ने निष्कासित कर दिया है। गौलापार ब्लॉक क्षेत्र अध्यक्ष नीरज रैकवार ने जानकारी दी और बताया कि इन नेताओं पर लालकुआं सीट के प्रत्याशी हरीश रावत के खिलाफ विधानसभा चुनाव में प्रचार करने की शिकायतें आई थी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: हल्दुचौड़ की आयुषी पांडे ने भाषण प्रतियोगिता में मारी बाजी, प्रदेश में पाया पहला स्थान

ऐसे में मामले की सत्यता की जांच की गई। जांच में प्रकरण सही पाए जाने पर उक्त तीनों पदाधिकारियों को कांग्रेस पार्टी ने प्राथमिक सदस्यता से 6 साल के लिए निष्कासित कर दिया है। रैकवाल ने बताया कि कांग्रेस जिलाध्यक्ष नैनवाल के निर्देश के बाद ही इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। उल्लेखनीय है कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत पोस्टल बैलट के मुद्दे पर भी लगातार सवाल उठा रहे हैं। ऐसे में कहीं ना कहीं कांग्रेस में टेंशन बढ़ी हुई दिख रही है।

Join-WhatsApp-Group
To Top