Nainital-Haldwani News

दुल्हन तीन दिन से इंतजार में, बरात फंसी भीमताल में, सब आपदा का किया धरा है…


दुल्हन तीन दिन से इंतजार में, बरात फंसी भीमताल में, सब आपदा का किया धरा है...

टनकपुर: प्रदेश में एक बार फिर से प्राकृतिक आपदा ने दस्तक दी और बहुत कुछ तबाह कर दिया। कुमाऊं में सर्वाधिक जान-माल का नुकसान हुआ है। कई मुख्य मार्गों के साथ संपर्क मार्ग भी बंद हो गए। जिस वजह से कई सारे पर्यटक और एक यात्री अभी भी अपने गंतव्य तक नहीं पहुंच पाए हैं। इस कारण से एक शादी भी अटक गई है। दुल्हन के घर आ रही बरात रास्ते में अटकी पड़ी है।

दरअसल पूर्णागिरि मार्ग स्थित नायकगोठ निवासी मुकेश बहादुर पुत्र प्रेम बहादुर की शादी 18 अक्टूबर को पिथौरागढ़ सिल्थाम बस स्टेशन के पास गोरखा कॉलोनी निवासी काजल के साथ होनी थी। शादी की तैयारियों के बीच उत्तराखंड में मौसम विभाग ने 18 अक्टूबर को मौसम अलर्ट जारी कर दिया।

यह भी पढ़ें 👉  CDS बिपिन रावत के हर दौरे पर उनके साथ यात्रा करती हैं पत्नी मधुलिका रावत, खास है वजह

अलर्ट को देखते हुए बारात को टनकपुर पिथौरागढ़ एनएच की बजाय हल्द्वानी-भीमताल की ओर से निकाला गया। विभाग की चेतावनी के अनुसार आधे रास्ते में ही भारी बारिश शुरू हो गई। बता दें कि जानकारी के अनुसार बरात में चार वाहनों में कुल 25 लोग मौजूद हैं। अब भीमताल पहुंचने के बाद मालूम हुआ कि आगे के मार्ग बंद हो गए हैं। इसलिए बरात को भीमताल में ही एक होटल में रात गुजारनी पड़ी। जहां बारिश के चलते मलबा भर गया।

यह भी पढ़ें 👉  विदेशों से उत्तराखंड आए करीब 110 यात्री नहीं हो रहे ट्रेस, स्वास्थ्य विभाग के फूले हाथ पांव

उप प्रधान राहुल ने जानकारी दी और बताया कि मंगलवार शाम को उनसे बात होने के बाद से कोई संपर्क नहीं हो पाया। उन्होंने बताया कि बराती पिथौरागढ़ दुल्हन के घर भी नहीं पहुंचे हैं। गौरतलब है कि दशहरे पर होने वाली शादी का मुहुर्त किसी कारण आगे बढ़ाया था। बहरहाल ताजा जानकारी के मुताबिक बराती भीमताल में फंसे हैं। उधर, दुल्हन पक्ष के लोगों के इंतजार की घड़ी लंबी होती जा रही है।

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top