Nainital-Haldwani News

मिल गई परमिशन…हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में अब पहले की तरह तैयार होंगे स्पेशलिस्ट डॉक्टर


Ad
Ad

हल्द्वानी: एमबीबीएस कर चुके छात्रों के लिए एक बहुत अच्छी खबर सामने आई है। अब राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में मेडिकल के छात्रों को एक बार फिर से स्पेशलिस्ट डॉक्टर बनने का मौका मिल सकता है। जी हां, एमबीबीएस करने के बाद एमएस करने वाले छात्रों के लिए 2 साल बाद एनएमसी से परमिशन मिली है।

Ad
Ad

दरअसल नेशनल मेडिकल कमिशन (एनएमसी) ने सर्जरी विभाग में मास्टर ऑफ सर्जरी (एमएस) की 11 सीटों के लिए हामी भर दी है। गौरतलब है कि कॉलेज के सर्जरी विभाग में कई सालों से केवल 9 सीटों पर एमएस की अनुमति थी। लेकिन इस अनुमति को भी पिछले 2 साल से रोक दिया गया था। ऐसा इसलिए क्योंकि एनएमसी के अनुसार यहां स्टाफ की कमी थी।

कुछ ऐसा ही हाल ईएनटी विभाग का भी था। बता दें कि ईएनटी विभाग में 4 सीटें संचालित थी। जिसमें एनएमसी से 2 सीटों को अनुमति मिल गई थी। लेकिन 2 सीटों पर रोक लगा दी गई थी। इस हेतु काम के लिए सर्जरी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर राजीव कुमार सिंह व ईएनटी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ शहजाद मोर्चा संभाल रहे थे। अब मेहनत का फल यह मिला कि एनएमसी ने एक बार फिर सर्जरी की 9 व ईएनटी की 2 सीटों के लिए हामी भर दी है।

यह भी पढ़ें 👉  रेलवे अतिक्रमण हल्द्वानी, PWD ने 25 जेसीबी और 25 पोकलैंड मंगवाने की तैयारी शुरू की

हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज से एमएस करने के इच्छुक छात्रों को बाहर नहीं जाना पड़ेगा। बता दें कि एमएस में प्रवेश की अनुमति को बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है। इस बारे में मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य अरुण जोशी ने जानकारी दी और बताया कि सर्जरी विभाग में फिर से एमएस में प्रवेश की परमिशन मिलना एक बड़ी सफलता है। हमने एनएमसी को इस बारे में कई बार पत्र लिखा था। अब इससे छात्रों को स्पेशलिस्ट डॉक्टर बनने का मौका मिलेगा।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top