Udham Singh Nagar News

ब्रांज मेडल विजेता मनोज सरकार को उत्तराखंड सरकार देगी 50 लाख रुपए और सरकारी नौकरी


ब्रांज मेडल विजेता मनोज सरकार को उत्तराखंड सरकार देगी 50 लाख रुपए और सरकारी नौकरी

रुद्रपुर: टोक्यो में आयोजित हुए पैरालंपिक 2020 में भारत ने एतिहासिक प्रदर्शन किया है। उत्तराखंड के लाल मनोज सरकार ने भी कांस्य पदक को अपने नाम किया है। अंतर्राष्ट्रीय पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी मनोज सरकार को प्रदेश सरकार ने 50 लाख रुपए और राजपत्रित नौकरी पुरस्कार स्वरूप देने का फैसला किया है।

गौरतलब है कि हाल ही में संपन्न हुए टोक्य ओलंपिक में भारत ने 19 मेडल अपने नाम किए। रुद्रपुर के मनोज सरकार ने बैडमिंटन में देश व प्रदेश का नाम रौशन किया है। कांस्य पदक मुकाबले में खेलना मुश्किल इसलिए भी था क्योंकि मनोज सेमीफाइनल मैच में हारकर यहां पहुंचे थे। लेकिन उन्होंने कड़ी टक्कर देते हुए भारत को पदक दिलाया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड क्रिकेट टीम के दो तेज गेंदबाजों का भारतीय चैलेंजर ट्रॉफी में चयन

मनोज के पदक जीतने के बाद से ही हर तरफ उनके संघर्षों, खेल को लेकर ही चर्चा हो रही है। उन्हें बधाईयां मिल रही हैं। मनोज के घर पर भीड़ लगी हुई है। इसी बीच राज्य सरकार ने भी मनोज को सम्मानित करने का फैसला कर लिया है। दरअसल बुधवार को विद्यालयी शिक्षा व खेल मंत्री अरविंद पांडेय ने देहरादून में खेल और युवा कल्याण विभाग के अधिकारियों की बैठक में एक घोषणा की।

मंत्री अरविंद पांडेय के मुताबिक ईनाम के तौर पर मनोज सरकार को पचास लाख रुपए खी धनराशि और साथ में एक सरकारी नौकरी दी जाएगी। बता दें कि मनोज के साथ प्रदेश सरकार ने ओलंपिक की हॉकी स्टार वंदना कटारिया को पांच लाख रुपए की धनराशि देने की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें 👉  बिछड़ों को अपनों से मिला रही उत्तराखंड पुलिस, परिवारों को खुशियां बांट रहा है ऑपरेशन स्माइल

इस बैठक में अरविंद पांडेय ने उत्तराखंड खेल नीति 2020 के हवाले से कहा कि खिलाड़ियों को तैयाप करने के लिए हर जिले में 100 बालक-बालिकाएं चयनित किए जाएंगे। जिन्हें खेल छात्रवृत्ति दी जाएगी। खिलाड़ियों की नॉर्मल व एक्स्ट्रा डाइट का विशेष ध्यान रखा जाएगा। बकायदा इसके लिए खेल सचिव को निर्देश भी दे दिए गए हैं।

प्रदेश के कैबिनेट मंत्री अरविंद पांडेय ने प्रदेश के युवा खिलाड़ियों को तलाशने व निखारने के लिए सरकार की मंशा साफ की। इसके साथ ही उन्होंने पीआरडी के अंतर्गत कार्यरत कर्मियों के लिए सुविधाओं एवं अन्य महत्वपूर्ण संबंधित विषयों पर चर्चा की। इधर, मनोज सरकार की बात करें तो भारत आने पर उन्हें केंद्री खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने एक कार्यक्रम में सम्मानित किया था।

यह भी पढ़ें 👉  खत्म होगा शिक्षक बनने का इंतजार,उत्तराखंड में 451 पदों पर निकली भर्ती

इस मौके पर मंत्री अनुगार ठाकुर ने कहा कि आगे आप स्वर्ण पदक भी जीतेंगे। बहरहाल मनोज सरकार की वर्षों की मेहनत अब रंग लाई हैष कांस्य पदक जीतने के बाद पूरा देश उन्हें सलाम कर रहा है। पीएम मोदी से भी वह गुरुवार को मिलने जा रहे हैं। इसके लिए उनकी पत्नी रेवा सरकार और छोटा भाई मनमोहन सरकार भी दिल्ली पहुंच गए हैं। गौरतलब है कि इस पैरालंपिक में भारत ने पांच गोल्ड, आठ सिल्वर और छह कांस्य पदक जीते हैं। जो कि आजतक भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top