Nainital-Haldwani News

रामनगर के कोविड केयर सेंटर में भर्ती कोरोना संक्रमित युवक का हुआ निकाह


रामनगर: कोरोना संक्रमित मरीजों की शादी की खबरे लगातार सामने आ रही हैं। हालांकि शादी पीपीई किट पहनकर संपन्न कराई जा रही है। कुछ ही दिन पहले एक मामला कोटाबाग से सामने आया था जहां कोरोना संक्रमित युवती की शादी सुरक्षा के सभी इंतजाम के साथ संपन्न कराई गई थी। नया मामला रामनगर का है। कोविड केयर सेंटर में भर्ती एक कोरोना संक्रमित युवक ने सेंटर में ही अपना निकाह संपन्न किया। दूल्हा और दुल्हन के अलावा इस निकाह में घर का कोई भी सदस्य शरीक नहीं हो सका। मौलवी ने निकाह नामा पढ़ा तो दूल्हा और दुल्हन ने कुबूल है… कुबूल है कह कर विवाह की रस्म पूरी की। फिलहाल कोरोना से मुक्त होने तक दूल्हा कोविड केयर सेंटर में ही रहेगा।


जानकारी के मुताबिक रामनगर के धनुपर के 30 वर्षीय नफीस अहमद का निकाह बाजपुर के सुल्तानपुर पट्टी निवासी शबनम से 27 मई को तय हुआ था। नियम के तहत सभी बारातियों ने कोविड टेस्ट कराया लेकिन रिपोर्ट में दुल्हा कोरोना संक्रमित पाया गया और सभी की रिपोर्ट नेगेटिव थी। परिजन परेशान थे कि कैसे अब शादी होगी। इस बीच नफीस को कोविड केयर सेंटर में भर्ती करा दिया गया। इसके बाद उसने फैसले किया कि वह कोविड केयर सेंटर में शादी करेगा। शबनम भी इस निकाह के लिए राजी हो गई।

दोनों परिवारों ने नोडल अधिकारी डा. प्रशांत कौशिक को इस पूरे मामले के बारे में बताया। डा. प्रशांत ने भी पीपीई किट पहनने की शर्त पर इस निकाह को इजाजत दे दी। दूल्हे के भाई शकील अहमद, दोस्त यूनुस अंसारी और कोविड नोडल अधिकारी डॉ. प्रशांत कौशिक ने निकाह की तैयारियां की। 27 मई को मौलवी ने दोनों को पीपीई किट पहनाकर निकाह की रस्म अदा कराई। इसके बाद कोरोना संक्रमित नफीस और शबनम पति-पत्नी बन गए। कोविड सेंटर में डॉक्टर और अन्य स्टाफ भी मौजूद रहा। लेकिन कोई भी परिजन इस विवाह में शरीक नहीं हो सका।

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top