Uttarakhand News

ऋषभ पंत के कोच तारक सिन्हा का निधन, विकेटकीपर-बल्लेबाज उन्हें कहते थे ‘पिता’



नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट को कई खिलाड़ी देने वाले मशहूर कोच तारक सिन्हा का निधन हो गया है। वह कैंसर से पीडित थे। उनकी उम्र 71 साल थी। वह विख्यात सोनेट क्लब के स्थापक थे। उनके निधन के बाद क्लब ने एक बयान में कहा, ‘भारी मन से यह जानकारी देनी है कि 2 महीने से कैंसर से लड़ रहे सोनेट क्लब के फाउंडर श्री तारक सिन्हा का शनिवार को तड़के तीन बजे निधन हो गया। उन्होंने सुरिंदर खन्ना, मनोज प्रभाकर, दिवंगत रमन लांबा, अजय शर्मा, अतुल वासन, संजीव शर्मा ,केपी भास्कर ,आकाश चोपड़ा, अंजुम चोपड़ा, रूमेली धर, आशीष नेहरा, शिखर धवन और ऋषभ पंत जैसे खिलाडी भारतीय क्रिकेट को दिए। इस काम में उनका साथ सहायक देवेंदर शर्मा ने भी दिया।

तारक सिन्हा सर ‘उस्ताद जी’ के नाम से मशहूर थे। वह एक बार भारतीय महिला टीम के कोच भी बने थे। कोचिंग में वह इतना विलीन थे कि उन्होंने शादी नहीं की थी। वह बच्चों को पढ़ाई करने के लिए प्रेरित करते थे। परीक्षा के दिनों में जो बच्चा एकेडमी आता था उसे वह घर भेज देते थे। भारतीय क्रिकेट के यंग स्टार ऋषभ पंत को निखारने में सिन्हा जी का हाथ रहा है। पंत को सबसे पहले देवेंदर शर्मा खोजा था और फिर तारक सर के साथ उन्हें निखारा।

यह भी पढ़ें 👉  भारत में ओमिक्रोन के दो मामले सामने आए, फिलहाल नहीं मिले हैं कोई गंभीर लक्षण

पंत के संघर्ष भरे दिनों में सिन्हा ने दिल्ली के एक स्कूल में पंत की पढाई का इंतजाम किया जहां से उसने दसवीं और बारहवीं बोर्ड की परीक्षा दी थी। ऋषभ पंत सिन्हा जी को पिता मानते थे। बताया जाता है कि सिन्हा सर के लिए हर बच्चा उनका बच्चा था। वह गलती करने पर खिलाड़ी को थप्पड़ भी जड़ देते थे।

यह भी पढ़ें 👉  देवस्थानम बोर्ड के बाद अब भू-कानून की बारी! उत्तराखंड CM धामी ने बुलाई कमेटी की बैठक

ऋषभ पंत के खराब फॉर्म को सही करने में उन्होंने काफी मदद की थी। उन्होंने एक बार कहा था कि विश्वकप 2019 सेमीफाइनल में पंत आउट होने के बाद इतने निराश हो गए थे कि उनका मनोबल टूट गया था और इस वजह से फॉर्म भी चला गया था। वह देश प्रेम आजाद, गुरचरन सिंह, रमाकांत आचरेकर और सुनीता शर्मा के बाद द्रोणाचार्य पुरस्कार प्राप्त करने वाले पांचवें भारतीय क्रिकेट कोच थे. तारक सिन्हा को 2018 में यह सम्मान दिया गया था.

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड के अगले साल के कैलेंडर में शामिल नहीं की गई इगास पर्व की छुट्टी

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top