Rajasthan

राजस्थान की बेटी की अनोखी कहानी, सफल होने पर भाइयों ने कंधे पर बैठाकर गांव में घुमाया

Ad
Ad
Ad
Ad

नई दिल्ली: खुशी कुछ भी करने के लिए मजबूर कर देती है। बहन की कामयाबी ने भाइयों को उत्साहित कर दिया। भाइयों ने बहन को गोद में उठाकर पूरे गांव में घुमाया। ये वाक्या सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। बाड़मेर जिले के गांव सरणू चिमनजी की छोटी सी ढाणी की निवासी हेमलता चौधरी उर्फ हेमाकक्षी ने पूरे गांव का सिर गर्व से ऊंचा किया है। हेमलता चौधरी उर्फ हेमाकक्षी ने राजस्‍थान पुलिस में उप निरीक्षक बनी है। आप कहेंगे की उप निरीक्षक बनने पर इतनी खुशियां, जी हां हेमलता ने यहां तक पहुंचने के लिए काफी कुछ किया है।

जानकारी के अनुसार हेमलता चौधरी उर्फ हेमाकक्षी का 10वीं कक्षा में पढ़ने के दौरान ही विवाह कर दिया गया था और 12वीं कक्षा में पढ़ाई के दौरान उन्होंने एक बच्चे का जन्म भी दिया था। इंटर करने के बाद आंगनबाड़ी में अस्थायी नौकरी व स्वयंपाठी के रूप में पढ़ाई की थी। वो आंगनबाड़ी मसे करीब 10 साल तक जुड़ी रही। उन्होंने नौकरी के साथ पढ़ाई जारी रखी और उन्हें सफलता मिल ही गई।

साल 2015 में पुलिस कांस्टेबल की परीक्षा दी। लिखित में उत्तीर्ण हुई, लेकिन शारीरिक दक्षता में सफल नहीं हो पाई। पहले प्रयास में असफल होने के बावजूद हिम्‍मत नहीं हारी। हेमलता ने साल 2016 में एक बार फिर से राजस्‍थान पुलिस उप निरीक्षक भर्ती परीक्षा में भाग्‍य आजमाया। इस बार सफलता हाथ लगी। साल 2021 में हेमलता उप निरीक्षक बन गई थी। अब पासिंग आउट परेड के बाद पहली बार खाकी वर्दी में घर आई तो हर किसी की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

यह भी पढ़ें 👉  राजस्थान बोर्ड परीक्षा के नतीजे जारी , बेटियों ने फिर मारी बाजी
To Top