Chamoli News

उत्तराखंड का गांव, जहां ग्रामीणों ने खुद लगाया शराब पर बैन, सज़ा की भी हुई घोषणा


चमोली: नशा मुक्त भारत, नशा मुक्त उत्तराखंड…ऐसे बहुत से संकल्प आए दिन सुनने को मिलते हैं। लेकिन ऐसे संकल्पों को साकार करने में आमजन की सबसे अधिक मदद चाहिए होती है। जनपद चमोली के एक गांव के निवासियों ने ऐसे ही मदद का हाथ बढ़ाते हुए नशे के खिलाफ एकजुटता दिखाई है और तय किया है कि शराब पीने-पिलाने वालों पर जुर्माना लगेगा। साथ ही ऐसे परिवार का सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा।

दरअसल, चमोली जिले के पोखरी तहसील के ऐरास गांव के वासियों ने एक मिसाल कायम की है। ग्रामीणों ने किसी भी धार्मिक व मांगलिक कार्यक्रम में शराब के प्रयोग पर बैन लगा दिया है। पंचायतघर परिसर में महिला मंगल दल की बैठक में यह निर्णय लिया गया है। सभी का कहना है कि शराब ने परिवारों में लड़ाईयां बढ़ा दी हैं। इसलिए प्रतिबंध आवश्यक है।

इस दौरान ग्रामीण युवा, बुजुर्ग, महिला और पुरुष सभी ने मिलकर ग्रामसभा के बगड़वाल धार से अमथला खोला तक एक शांतिपूर्ण रैली निकाली, जिसमें निर्णय के बारे में सभी को जागरुक किया गया। बता दें कि चाहे वह धार्मिक कार्यक्रम हो या शादी विवाह की पार्टी, अब शराब पर प्रतिबंध रहेगा। महिला दंगल शराब पीने पिलाने वालों पर नजर रखेगा। पांच हजार रुपए जुर्माना तय किया गया है। इसका उल्लंघन करने वाले परिवारों का जरूरत पड़ने पर सामाजिक बहिष्कार भी किया जाएगा।

To Top