Ad
Uttarakhand News

उत्तराखंड का इतिहास बदलने के बाद मां से आर्शीवाद लेने पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून:  प्रदेश को नया मुख्यमंत्री मिल गया है। दिल्ली में बैठे बीजेपी के आलाकामान ने युवाओं की पसंद माने जाने वाले युवा नेता पुष्कर सिंह धामी को राज्य का मुख्यमंत्री बनाया। वहीं देहरादून में बीजेपी विधायक दल की बैठक में उनके नाम पर मुहर लगाई गई। पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड के 12वें मुख्यमंत्री के रूप में जल्द शपथ लेंगे। विधानमंडल की बैठक में उनका चयन होने के बाद उनके घर बधाई देने वालों का तांता लगना शुरू हो गया। कोई फूल लेकर पहुंचा तो कोई मिठाइयों का डिब्बा लेकर पहुंचा हुआ है। बीजेपी कार्यकर्ता बेहद खुश हैं और ढोल-नगाड़ों पर जमकर डांस कर रहे हैं। सीएम की मां बिशना धामी और पत्नी गीता धामी  भी काफी खुश हैं।

विधानमंडल का नेता चुने जाने के बाद मुख्यमंत्री अपने घर पहुंचे और मां का आर्शीवाद लिया। मां ने बेटे की आरती उतारी। इस दौरान उनके स्वागत के लिए कई लोग मौजूद थे और बधाई दे रहे थे। जुलाई 2021 में जब धामी पहली बार सीएम बनें थे तो मां ने कहा था कि ‘मैं बहुत खुश हूं लेकिन थोड़ा दुखी हूं कि उनके पिता उन्हें (पुष्कर सिंह धामी) उत्तराखंड के मुख्यमंत्री के रूप में देखने के लिए हमारे साथ नहीं हैं। जिन्होंने अपने बेटे के लिए यहां तक पहुंचाने के लिए बहुत मेहनत की है। अगर आज वह यहां होते तो खुदी दोगुनी हो जाती” बता दें कि धामी के पिता का एक साल पहले ही निधन हुआ है, वह सेना में अफसर थे। मां ने कहा कि उनका भी सपना था कि बेटा एक दिन राज्य का मुख्यमंत्री बने, लेकिन यह उनके जाने के बाद हुआ।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं में विजिलेंस टीम का एक्शन, रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया तहसील का अधिकारी

पुष्कर सिंह धामी लगातार दूसरी बार मुख्यमंत्री बनने वाले राज्य के पहले नेता है। इसके अलावा उन्होंने भाजपा की नैया पार लगाने में भी अहम योगदान दिया। इसी वजह से विधानसभा में हार के बाद भी धामी को ही मुख्यमंत्री बनाने का फैसला केंद्रीय नेतृत्व ने लिया है।

Join-WhatsApp-Group
To Top