Uttarakhand News

अंकिता हत्याकांड में पकड़ा गया पुलकित का झूठ, सुलझ गई एक और गुत्थी

Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: अंकिता हत्याकांड से पूरे प्रदेश में उबाल है। एक-एक कर जांच में नए खुलासे हो रहे हैं। इस बार बहुत बड़ा खुलासा पुलकित को लेकर हुआ है। पुलकित का एक बड़ा झूठ सामने आ गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अंकिता के पुलकित के मोबाइल को नहर में फेंकने की बात झूठी है। पुलकित ने खुद बताया है कि मोबाइल उसने दूसरे दिन नहर में फेंका था।

मीडिया रिपोर्ट्स से एक बड़ी अपडेट सामने आई है। बताया जा रहा है कि अंकिता को मारने के लिए पुलकित ने प्लानिंग की थी। पुलिस दो दिनों से पुलकित और उसके दोस्तों के साथ सख्ती से पूछताछ कर रही है। आपको याद दिला दें कि पहले पुलकित की ओर से ही झगड़े में अंकिता द्वारा उसका मोबाइल फेंके जाने के बाद अंकिता को नहर में धक्का देने की बात सामने आई थी।

मगर अब यह सामने आ रहा है कि 18 सितंबर को नहर में धक्का देकर अंकिता की हत्या को उसने दुर्घटना दर्शाने के लिए मोबाइल को आधार बनाया था। पुलिस के टेक्निकल एक्सपर्ट की जांच में खुलासा हुआ है कि उसका मोबाइल अगले दिन दोपहर में बंद हुआ था। वह दूसरे मोबाइल पर व्हॉट्सएप चला रहा था। बताया जा रहा है कि उसने हत्या के बाद कहानी बुनी थी। पता चला है कि मोबाइल पर 19 सितंबर को भी घंटी जा रही थी।

यह भी पढ़ें 👉  अंकिता भंडारी हत्या मामले में हो सकता है आरोपितों का नार्को टेस्ट!

सूत्रों की मानें तो उसे इस बात की जानकारी थी कि जांच हुई तो वह सीसीटीवी फुटेज में आ सकता है। मगर उसे घटनाक्रम की जगह पर ही मोबाइल फेंकना था। ऐसे में उसने बिना सीसीटीवी में आए जंगल के रास्ते नहर तक पहुंचने का फैसला किया। उसने वहां जाकर मोबाइल फेंक दिया। अब एसआईटी को इस मामले में सफलता मिली है। पुलकित के इस कबूलनामे से दोषियों को सजा देने की राह आसान हो सकती है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top