National News

सीएम योगी आदित्यनाथ अयोध्या से लड़ेंगे चुनाव? इस बड़ी सीट पर चुनाव लड़ने को लेकर भी दिल्ली में हुई चर्चा


उत्तरप्रदेश: चुनाव आयोग के आगामी चुनाव वाले राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान करने के बाद से ही चुनावी राज्यों में चुनावी हलचल शुरू हो गई है। ऐसे में टिकटों के बंटवारे को लेकर भी पार्टियों की उच्चस्तरीय मीटिंग चल रही हैं। इसी पर बड़ी खबर सीएम योगी आदित्यनाथ के अयोध्या से चुनाव लड़ने को लेकर आ रही है।

दिल्ली में दो दिन चली उच्चस्तरीय नेताओं के साथ मीटिंग में लिया निर्णय।

विधानसभा चुनाव के प्रत्याशी तय करने के लिए भाजपा प्रदेश और केंद्रीय नेतृत्व की बैठक दो दिन से दिल्ली में चल रही थी। पार्टी के मुख्य रणनीतिकार कहे जाने वाले गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष और प्रदेश चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह, उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने एक-एक सीट और दावेदारों के नाम पर चर्चा की। मंगलवार को तीन चरणों में शामिल 170 सीटों पर चर्चा की गई, जबकि बुधवार को बड़े नेताओं को चुनाव लड़ाने की रणनीति पर भी मंथन हुआ।

यह भी पढ़ें 👉  पंजाब में बदल गई है विधानसभा चुनाव की तारीख, आखिर क्यों चुनाव आयोग को लेना पड़ा ये फैसला

सूत्रों ने बताया कि नेतृत्व ने तय किया है कि सीएम योगी अयोध्या से चुनाव लड़ेंगे। इसके साथ ही अन्य बड़े नेताओं की सीटों पर भी सहमति बन गई है। संभावना है कि आज गुरुवार को प्रस्तावित केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में इस निर्णय पर अंतिम मुहर लगने के बाद योगी की सीट सहित अन्य प्रत्याशियों की घोषणा पार्टी की ओर से की जा सकती है।

यह भी पढ़ें 👉  पंजाब में बदल गई है विधानसभा चुनाव की तारीख, आखिर क्यों चुनाव आयोग को लेना पड़ा ये फैसला

मथुरा से योगी के चुनाव लड़ने को लेकर भी सामने आई बात।

सीएम योगी के मथुरा से चुनाव लड़ने पर भी हुई बात।
आपको बता दें कि पार्टी के कुछ बड़े नेताओं ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मथुरा से चुनाव लड़ने को लेकर भी बात सामने रखी। सूत्रों के मुताबिक पार्टी के एक सांसद ने सीएम योगी आदित्यनाथ के मथुरा से चुनाव लड़ने को लेकर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखा था। जिसमें उन्होंने लिखा था कि वैसे तो प्रदेश भर की जनता के लोग यह चाहते हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उनके यहां से चुनाव लड़ें पर बृज क्षेत्र से उनका चुनाव लड़ना चुनौतीपूर्ण माने जा रहे पार्टी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पूरी तरह से मजबूती प्रदान करेगा और नतीजों पर सीधा असर पड़ेगा। मगर जिस तरह से मीटिंग में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अयोध्या से चुनाव लड़ने की बात के निर्णय का फैसला सामने आया है उससे पार्टी ने अपनी रणनीति के संकेत स्पष्ट तौर पर दे दिए हैं। दरअसल अयोध्या में इस वक्त राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा और कई तरह की विकास परियोजनाएं भी चल रही है जिससे हिंदुत्व के साथ-साथ विकास का मॉडल भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनता के सामने प्रस्तुत करेंगे। आपको बता दें कि गोरखपुर से पांच बार सांसद रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं और राजनीतिक विश्लेषकों की मानें तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए अयोध्या से बेहतर कोई सीट नहीं हो सकती।

To Top