Uttarakhand News

नैनीताल: शहीद संजय बिष्ट के नाम से जाना जाएगा इंटर कॉलेज और मोटर मार्ग

Martyr Sanjay Singh Bisht: हल्द्वानी में आयोजित हुए ईजा-बैणी महोत्सव में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कई बड़ी घोषणाएं की। एक घोषणा ने सभी को भावुक कर दिया। ईजा बैंणी महोत्सव में पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जिले के लिए कई महत्त्वपूर्ण घोषणाएं की। जिसमें मुख्य रूप से जम्मू कश्मीर राजौरी में शहीद संजय बिष्ट की याद में रातीघाट स्थित इंटर कालेज को शहीद संजय बिष्ट इंटर कालेज के साथ हली मोटर मार्ग को शहीद संजय बिष्ट के नाम से जानने की घोषणा की।

बता दें कि जम्मू के राजौरी सेक्टर में आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में बेतालघाट ब्लॉक स्थित रातीघाट क्षेत्र निवासी 28 वर्षीय पैरा कमांडो नाइन पैरा (स्पेशल फोर्स) संजय सिंह बिष्ट ने देश के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिए। संजय दो हफ्ते पहले ही घर में छुट्टी बिताकर अपनी ड्यूटी पर लौटे थे। संजय ने साल 2012 में भारतीय सेना ज्वाइन की थी। उनके परिवार में भाई नीरज सिंह बिष्ट, पिता दीवान सिंह बिष्ट, मां मंजू बिष्ट, बहन ममता बिष्ट और विनीता बिष्ट हैं।

संजय बिष्ट के शिक्षक कहते हैं कि वो बचपन से अलग था। हमेशा कहता था कि ऐसा काम करना है कि गांव-परिवार का नाम हो जाए। राजौरी सेक्टर में संजय के बलिदान ने रातीघाट को गम दिया है तो गौरवान्वित भी किया है। पैरा कमांडो संजय सिंह बिष्ट जब भी छुट्टी पर घर आते तो युवाओं को भारतीय सेना में भर्ती होने या रोजगार के लिए प्रेरित करते रहते थे।

संजय बिष्ट के गांव वाले भी चाहते थे कि उनकी याद में स्मारक या स्कूल बनें ताकि उनके बारे में आने वाली पीढ़ी को पता चलें।

To Top
Ad