Uttarakhand News

जय हो बाबा केदारनाथ, धाम जाने के लिए इस साल भी नहीं बढ़ेगा हेलीकॉप्टर का किराया


Ad
Ad

देहरादून: हर साल की तरह इस बार भी चारधाम यात्रा के लिए तैयारियां काफी पहले से ही शुरू हो गई हैं। बीते कुछ समय में चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं का ध्यान हेली सेवाओं की तरफ काफी आकर्षित हुआ है। इसलिए नागरिक उड्डयन विभाग इस बार भी कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहता। हेली सेवाओं की ऑनलाइन बुकिंग भी जल्द खोलने की तैयारी चल रही है। लेकिन भक्तजनों के लिए खास खबर ये है कि अनुमान के मुताबिक इस बार हेली सेवाओं की दरें बढ़ने वाली नहीं है। आपको पुराने रेट में ही हेली सेवा का लाभ मिलेगा।

Ad
Ad

बता दें कि हेली सेवा के लिए बुकिंग उत्तराखंड नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (यूकाडा) के साथ ही पर्यटन विभाग की वेबसाइट के जरिये कराने की तैयारी है। गौरतलब है कि पिछले साल किराया बढ़ने को लेकर खासा चर्चाएं थी। लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2020 में कंपनियों से तीन साल का अनुबंध करना है। इस कारण किराया इस साल भी पहले जैसा ही रहेगा। केदारनाथ धाम की बात करें तो यहां केदारघाटी के फाटा, सिरसी और गुप्तकाशी में बनाए गए अस्थायी हेलीपैड से हेली सेवाएं संचालित की जाती हैं।

कार्यालय महानिदेशक नागरिक उड्डयन (डीजीसीए) द्वारा सर्वे करने के बाद ही यहां से हेली सेवा का संचालन शुरू होता है। सचिव नागरिक उड्डयन दिलीप जावलकर ने जानकारी दी और बताया कि श्रद्धालुओं के लिए राहत की बात ये है कि इस वर्ष भी हेली सेवाओं का किराया नहीं बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हेली सेवाओं को शुरू करने की तैयारी की जा रही है। अप्रैल से हेली सेवाओं की बुकिंग शुरू कर दी जाएगी। बता दें कि फाटा से केदारनाथ तक 2360 रुपए, सिरसी से केदारनाथ तक 2340 रुपए अथवा गुप्तकाशी से केदारनाथ तक 3875 रुपए ही किराया इस बार भी रहेगा।

यह भी पढ़ें 👉  रेलवे के फैसले से उत्तराखंड की दो ट्रेनों को मिलेगा फायदा

आपको याद होगा कि साल 2020 में कोरोना की पहली लहर की वजह से चारधाम यात्रा पर खासा असर पड़ा था। इसके बाद साल 2021 में यूकाडा द्वारा मई के महीने में हेली सेवाएं शुरू करने का प्लान बनाया है तो कोरोना की दूसरी लहर ने दस्तक दे दी। इस कारण हेली सेवाएं अक्टूबर में शुरू की गईं। लेकिन फिर भी कोरोना के डर के चलते हेली सेवाओं को सीमित संख्या के यात्रियों के साथ ही संचालित किया गया। अच्छा ये है कि इस बार फिलहाल वक्त तक कोरोना का कोई खतरा नहीं है। इसलिए श्रद्धालुओं को हेली सेवा का आनंद उठाने में कोई परेशानी नहीं होगी।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top