Uttarakhand News

उत्तराखंड में अब इस तरीके से बांटा जाएगा सरकारी राशन, महिलाएं निभाएंगी बड़ी जिम्मेदारी

उत्तराखंड में अब इस तरीके से बांटा जाएगा सरकारी राशन, महिलाएं निभाएंगी बड़ी जिम्मेदारी

देहरादून: प्रदेश में राशन वितरण को लेकर नई गाइडलाईन जारी कर दी गई है। टेक होम राशन व्यवस्था के कारण चल रहे मसले में इन गाइडलाइन को बड़ा कदम माना जा रहा है। दरअसल उत्तराखंड में आंगनबाड़ी केंद्रों पर बंटने वाला टेक होम राशन, महिला स्वयं सहायता समूह ही वितरित करेंगी।

दरअसल प्रदेश के आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से बच्चों, गर्भवती व धात्री महिलाओं को दिए जाने वाले टेक होम राशन (टीएचआर) की व्यवस्था पर मामला काफी गरम हो गया था। प्रदेश सरकार ने टेक होम राशन वितरण को टेंडर आमंत्रित किए गए। महिला स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं ने इसका विरोध किया।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य का निधन, सीएम धामी ने किया ट्वीट

यह भी पढ़ें: मलवा आने से एक बार फिर बंद हुआ वीरभट्टी पुल, नैनीताल होते हुए यात्रा पूरी करनी पड़ेगी

यह भी पढ़ें 👉  IPL के लिए उत्तराखंड पुलिस ने कसी कमर, नौ लाख रुपए के साथ एक सटोरिए को दबोचा

मगर अब हर पहलू को देखते हुए सरकार के महिला बाल विकास विभाग ने ऑनलाइन टेंडर प्रक्रिया भी निरस्त कर दी है। बता दें कि इससे पहले हाईकोर्ट ने इस टेंडर प्रक्रिया पर रोक लगाने के आदेश दिए थे। जिसके बाद राज्य सरकार ने ये फैसला किया है।

अगर टेंडर प्रक्रिया पूरी होती तो टेक होम राशन वितरण प्रक्रिया में निजी कंपनियों को मौका दिया जाता। जिससे महिला स्वयं सहायता समूहों को नुकसान होता। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। फिलहाल मौजूदा व्यवस्था ही बरकरार रहेगी।

यह भी पढ़ें: ट्विटर पर एक व्यक्ति ने सोनू सूद से मांगे एक करोड़ रुपए, एक्टर ने कहा बस इतने ही…

यह भी पढ़ें 👉  IPL के लिए उत्तराखंड पुलिस ने कसी कमर, नौ लाख रुपए के साथ एक सटोरिए को दबोचा

यह भी पढ़ें: रुद्रपुर पहुंचे टोक्यो के हीरो सिमरनजीत सिंह, ओलंपिक पदक जीतने के लम्हे को किया याद

कैबिनेट के निर्णय के क्रम में शासन ने इस सिलसिले में आदेश भी जारी कर दिए हैं। विभागीय सचिव एचसी सेमवाल की तरफ से ऑनलाइन टेंडर प्रक्रिया निरस्त करने और पूर्ववर्ती व्यवस्था जारी रखने के आदेश जारी किए गए हैं। प्रदेश में 154 महिला स्वयं सहायता समूहों को टीएचआर वितरण का जिम्मा सौंपा गया है। 

विभाग के अनुसार, 16 अगस्त को हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में भी टीएचआर के मसले पर चर्चा हुई। जिसमें फिलहाल पुरानी व्यवस्था बरकरार रखने का निर्णय लिया गया। विभाग ने राज्य की भौगोलिक जरूरत के अनुसार योजना के स्वरूप में बदलाव के लिए केंद्र को पत्र लिखने का भी निर्णय लिया है। 

यह भी पढ़ें 👉  पांच साल बाद युवाओं को मिलेगा खास मौका, उत्तराखंड पुलिस में 1521 पदों पर होगी सीधी भर्ती

गौरतलब हो कि केंद्र सरकार ने टीएचआर की वितरण की नई व्यवस्था के तहत पोषक तत्वों से युक्त अनुपूरक पोषाहार निरंतर उपलब्ध कराने और लैब में परीक्षण के बाद ही पोषाहार वितरित करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी की छह सड़कें होंगी टनाटन,जारी हुआ आठ करोड़ रुपए का बजट

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी जेल में बंद कैदियों को मिलेंगे स्मार्ट कार्ड, हर महीने कर सकेंगे हजारों रुपए की शॉपिंग

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top