Uttarakhand News

देश का सबसे स्वच्छ पर्वतीय राज्य बना उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश को पीछे छोड़ा


Ad
Ad

देहरादून: देवभूमि के लिए बेहद अच्छी खबर सामने आई है। उत्तराखंड ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 में पहाड़ी राज्यों में नंबर वन स्थान पर कब्जा किया है। जी हां, उत्तराखंड अब हिमाचल प्रदेश को पीछे छोड़ कर सबसे स्वच्छ पहाड़ी राज्य बन गया है। राज्य के शहरों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपनी रैंकों में भी सुधार किया है। प्रदेश के अन्य शहरों के मुकाबले दून पहले स्थान पर रहा है और देशभर में राजधानी को 134वीं रैंक मिली है।

Ad
Ad

स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 की तैयारी राज्य में पहले से ही शुरू हो गई थी। प्रशासन के साथ ही लोगों का भी इसमें अथक प्रयास रहा है। इसीलिए इस बार का स्वच्छ सर्वेक्षण उत्तराखंड के लिए कई मायने में बेहतर रहा। बता दें कि उत्तराखंड को 10 पर्वतीय राज्यों में पहला स्थान मिला है। इससे पहले यह रैंक हिमाचल प्रदेश की झोली में थी। सर्वेक्षण में उत्तराखंड को कुल 1325 अंक, जबकि हिमाचल को 1050 अंक मिले।

राष्ट्रीय स्तर पर 659 शहरों में देहरादून को 134वीं रैंक मिली, जबकि निगम निगम श्रेणी के 372 शहरों में से दून की रैंक 82वीं रही। इस श्रेणी में दून में अपनी रैंक में 302 अंकों का सुधार भी किया। राज्य स्तर पर दून पहले, रुद्रप्रयाग दूसरे और हरिद्वार शहर तीसरे स्थान पर रहा। इसके अलावा नगर निगमों की श्रेणी में भी दून सबको पीछे कर दिया। दूसरे और तीसरे पर रुड़की और रुद्रपुर रहे। गौरतलब है कि इकलौते काशीपुर नगर निगम की रैंकिंग 34 अंक फिसली है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड के लोगों के लिए खुशखबरी, बिजली की दरें नहीं बढ़ा पाएगा UPCL

ऐसा नहीं है कि केवल बड़े शहरों ने ही बाजी मारी बल्कि इस बार छोटे शहरों ने भी कमाल किया है। 50 हजार से एक लाख तक की जनसंख्या वाले 85 शहरों में ऋषिकेश ने पहले स्थान पर कब्जा जमाया वहीं नेशनल लेवल पर ऋषिकेश की रैंकिंग 53वीं रही। इसी क्रम में 25 हजार से 50 हजार तक की जनसंख्या वाले 200 शहरों में मसूरी को पहली व देश में 91वीं रैंक मिली। साथ ही बता दें कि 25 हजार से कम जनसंख्या वाले शहरों (कुल 720 शहरों) मुनिकीरेती को प्रदेश में पहली, जबकि देश में 11वीं रैंक मिली। वाकई उत्तराखंड के लिए यह आंकड़े छू पाना गर्व की बात है।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top