Uttarakhand News

ओमीक्रोन को लेकर उत्तराखंड में जारी हुई SOP, दूसरे राज्यों से आने वालों के होंगे रैंडम टेस्ट


ओमीक्रोन को लेकर उत्तराखंड में जारी हुई SOP, भीड़भाड़ वाली जगहों पर होंगे रैंडम टेस्ट
Ad
Ad

देहरादून: कोरोना के नए वैरिएंट ने कुछ देशों में अपनी दस्तक दे दी है। इसी वजह से भारत में भी जगह जगह एहतियात बरतने शुरू हो गए हैं। इसी कड़ी में उत्तराखंड सरकार (Uttarakhand Government) ने ओमिक्रिोन वैरिएंट (Omicron Variant) से बचाव के लिए एसओपी जारी कर दी है। जिसमें तमाम भीड़ वाली जगहों पर सैंपलिंग करने के निर्देश दिए गए हैं। खासकर दूसरे राज्यों से आने वालों की रैंडम सैंपलिंग की जा सकती है।

Ad
Ad

मुख्य सचिव एसएस संधु (Chief Secretary SS Sandhu) द्वारा जारी एसओपी में सभी जिलों के जिलाधिकारियों (District Magistrates) को सैंपलिंग में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं। कहा गया है कि राज्य के एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बार्डर चेक पोस्ट (Border Post), पर्यटन स्थल (Tourist Place) और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर रैंडम सैंपलिंग (Random testing) कराई जाए। अगर कोई संक्रमित मिलता है तो उसका इलाज किया जाए।

बता दें कि एसओपी के लिहाज से प्रदेश के सभी महावविद्यालय, मेडिकल व नर्सिंग कॉलेज (Medical or nursing colleges) व शैक्षिक संस्थानों में कोरोना टेस्ट किए जाएंगे। अगर नेपाल से आवाजाही हो तो साथ में कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज का प्रमाण पत्र रखना अनिवार्य है। मुख्य सचिव की मानें तो नए वैरिएंट से चिंता बढ़ी है। ये संक्रमण तेजी से फैलता (It spreads quickly) है। केंद्र सरकार (Central Government) के कहने पर विदेश से आने वाले लोगों की खास तौर पर निगरानी के निर्देश भी दिए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  नानकमत्ता बैराज समेत पांच जगहों पर उतारेगा सी प्लेन, केंद्र ने दिखा दी है हरी झंडी

मुख्य सचिव संधु ने कहा कि इसे देखते हुए प्रदेश में टीकाकरण (Vaccination) में तेजी लाने के साथ साथ नियमों की पालनी करना आवश्यक है। इसलिए अब सार्वजनिक स्थानों पर शारीरिक दूरी (Social distancing) समेत मास्क अथवा अनेकों नियमों को सख्ती से लागू किया जाएगा। इनकी पालना ना करने पर चालान भी होगा। सभी स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंट लाइन वर्कर (Frontline workers) का कोविड टेस्ट किए जाने के भी निर्देश दिए गए।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top