Uttarakhand News

सोशल मीडिया पर VIRAL हुआ कच्चा बादाम गाना… अब उत्तराखंड पुलिस ने दिखाया अपना अंदाज


सोशल मीडिया पर VIRAL हुआ कच्चा बादाम गाना... अब उत्तराखंड पुलिस ने दिखाया अपना अंदाज
Ad
Ad

हल्द्वानी: सोशल मीडिया आज के ज़माने की सबसे पसंदीदा जगह है। हर कोई तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर मौजूद रहकर देश दुनिया व अपनों से जुड़े रहना चाहता है। इन प्लेटफॉर्म पर समय समय कुछ वीडियो, गाने या मीम्स वायरल होते हैं। उत्तराखंड पुलिस भी आज के जमाने को जागरुक करने के लिए इन मीम्स का सहारा लेने से नहीं चूकती। एक बार फिर उत्तराखंड पुलिस का निराला अंदाज देखने को मिला है। इस बार उत्तराखंड पुलिस ने फेसबुक पेज पर काचा बादाम गाने के पोस्टर के द्वारा एक संदेश दिया है।

Ad
Ad

बता दें कि इन दिनों सोशल मीडिया खासकर इंस्टाग्राम और फेसबुक पर एक गाना वायरल हो रहा है। जिसका नाम काचा बादाम है। आप सब जानकर हैरान होंगे कि ये असल में कोई गाना नहीं है और ना तो इसे किसी सिंगर ने गाया है। बल्कि ये गाना तो एक मूंगफली बेचने वाले व्यक्ति ने गाया है। मूंगफली बेचने वाले जिस शख्स ने ये गाना गुनागुनाया उनका नाम भुबन बादायकर हैं। भुबन का ये गाना इतना वायरल हो गया कि बड़े से बड़े सेलेब्रिटी इस पर थिरकने से खुद को रोक नहीं पाए। भुबन बादायकर इस गाने की बदौलत काफी फेमस हो गए हैं।

बांग्ला भाषा में काचा बादाम का मतलब कच्ची मूंगफली होता है। बांग्ला में मूंगफली को बादाम कहा जाता है। वैसे तो आवाजें लगाकर अपना सामान बेचने वालों को हम सबने देखा है। लेकिन भुबन बादायकर (Bhuban Badyakar) अपनी मूंगफली को बेचने के लिए ग्राहकों को गाना गाकर लुभाते हैं। उनका यही अंदाज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। अब उत्तराखंड पुलिस ने साइबर ठगी से बचने के लोगों को काचा बादाम के गाने के जरिए मैसेज दिया है। उत्तराखंड पुलिस ने फेसबुक पर भुबन बादायकर के फोटो के साथ एक पोस्ट शेयर किया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में मिलेगी महानगरों जैसी सेवा,FIR दर्ज करने के लिए नहीं जाना पड़ेगा पुलिस स्टेशन

इस पोस्ट में एक तरफ भुबन की फोटो है। जिसके नीचे लिखा है “लालच में ना आएं”। वहीं सीधे हाथ की तरफ लिखा है कि “फर्जी साईट्स से ऑनलाइन शॉपिंग के चक्कर में बादाम की जगह काचा बादाम (मूंगफली) ना मिल जाए।” उत्तराखंड पुलिस ने पोस्ट के साथ कैप्शन में लिखा है कि “साइबर अपराध के शिकार होने का सबसे बड़ा कारण है लालच में आना। इसलिए सतर्क रहें, सुरक्षित रहें”। गौरतलब है कि उत्तराखंड में साइबर अपराधों के बढ़ते ग्राफ को रोकने के लिए पुलिस तरह तरह से जनता को जागरुक करने में जुटी हुई है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में बारिश का अलर्ट,अधिकारियों को आसानी से नहीं मिलेगी छुट्टी
Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top