Uttarakhand News

चालकों की मनमानी से यात्री परेशान, उत्तराखंड रोडवेज अब वेतन से काटेगा 5 हजार रुपए,जानें


दिवाली पर छुट्टी नहीं करने वाले कर्मियों को एक्स्ट्रा सैलरी देगा उत्तराखंड रोडवेज

देहरादून: रोडवेज ( UTTARAKHAND ROADWAYS DRIVER) ने चालकों की मनमानी को रोकने के लिए नया नियम बनाया है। अगर कोई चालक निर्धारित मार्ग पर बस नही चलाएगा तो उसके वेतन से पांच रुपए काटे जाएंगे। अधिकारियों को शिकायत मिली है कि चालक निर्धारित मार्ग के बजाए एक्सप्रेस-वे ( Uttarakhand bus via express way) से बस ले जा रहे हैं।

Ad

दिल्ली मार्ग पर चलने वाली बसों को लेकर सबसे ज्यादा शिकायत मिल रही थी। चालकों की मनमानी के वजह से मेरठ, मोदीनगर, मोहननगर व गाजियाबाद से यात्रा करने वाले लोगों को परेशानी हो रही है। इसके अलावा यात्रियों की संख्या कम होने से रोडवेज को भी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड के सबसे बड़े हॉस्पिटल AIIMS में OPD बंद, फोन कर डॉक्टर्स से सलाह ले सकते हैं मरीज

जानकारी के मुताबिक दून-दिल्ली मार्ग पर रोडवेज की ओर से तय मार्ग छुटमलपुर-रुड़की-मुजफ्फरनगर से मेरठ-मोदीनगर-मुरादनगर-गाजियबाद होकर है। अब एक्सप्रेस-वे के बन गया है तो ज्यादातर रोडवेज चालक समय और ईंधन बचाने के चक्कर में बसों का संचालन एक्सप्रेस-वे से कर रहे। बता दें कि इस वजह से कई बार तेल चोरी होने के मामले भी सामने आए हैं। वहीं यात्री भी मार्ग पर बस नहीं मिलने पर अधिकारियों का घेराव कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें 👉  कौन हैं अनुकृति गोसाईं... जिन्होंने मॉडलिंग के बाद उत्तराखंड की राजनीति में रखा है कदम

इस विषय को लेकर लगातार शितायतें आ रही थी और ऐसे में नियमों को कड़ा किया गया है। ग्रामीण डिपो एजीएम केपी सिंह ने आदेश दिए हैं कि सभी बस चालक निर्धारित मार्ग पर संचालन करें और जो चालक एक्सप्रेस-वे या बाइपास मार्ग से संचालन करते हुए मिले तो उनके वेतन से पांच हजार रुपए ( Five thousand rupees penalty) काटे जाएंगे।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में जारी हुई नई गाइडलाइंस, पूरे जनवरी रहेगी पाबंदियां

To Top