Almora News

अल्मोड़ा जिले में बाहर से आने वालों की होगी जांच, होटलों को कोविड सेंटर बनाने के भी निर्देश



अल्मोड़ा: कोरोना की एक लहर के कम होने के बाद लगता है कि अब इसका अंत हो गया। लेकिन ये महामारी बार बार किसी ना किसी रूप में वापसी कर लोगों की जिंदगी पर संकट बनकर मंडराने लगती है। इस बार भी यही हुआ है। पिछले दो सालों के मुकाबले इस बार कोरोना का संकट चंद महीने पहले ही आ गया है। खतरा इतना बढ़ गया है कि मुख्य सचिव ने अल्मोड़ा जिले के लिए सख्त निर्देश जारी कर दिए हैं।

Ad

बता दें कि बीती शाम को स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन के अनुसार प्रदेश भर में 630 नए मामले सामने आए हैं। चौंकाने वाली बात ये है कि सिर्फ तीन से चार दिन पहले तक प्रदेश में 50 से 100 के बीच ही मामले सामने आ रहे थे। इधर, अल्मोड़ा जिले में 18 मामले सामने आए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  डीडीहाट नहीं तो क्या रामनगर से ही चुनाव लड़ेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत...?

इसी कड़ी में गुरुवार को मुख्य सचिव एसएस संधू ने वीसी के माध्यम से कोरोना की रोकथाम को लेकर निर्देश दिए। इस दौरान मुख्य तौर पर उन्होंने होटलों को कोविड सेंटर बनाने के लिए अधिग्रहीत करने के निर्देश दिए। बता दें कि कोरोना की पहली और दूसरी लहर में कहीं ना कहीं तैयारियों के अभाव में भी नुकसान ज्यादा हुआ था।

यह भी पढ़ें 👉  गर्व की बात है, देवभूमि की प्रीति धनाई ने इंजीनियरिंग कॉलेज में टॉप कर जीता गोल्ड मेडल

इस बार शासन प्रशासन कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहता है। मुख्य सचिव ने कहा कि वर्तमान में लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। अगले 45 दिन इस दृष्टि से बहुत संवेदनशील हैं। उन्होंने जिलाधिकारी वंदना सिंह को अपने लेवल पर हर जरूरी काम करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि 24 घंटे कंट्रोल रूम संचालित हों।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से टिकट मिलने पर भावुक हुए सुमित हृदयेश...बोले कांग्रेस ने नहीं खलने दी मां की कमी

मुख्य सचिव ने कहा कि अस्पतालों में गंभीर कोरोना मरीजों के इलाज से लेकर होम आइसोलेशन पर भी बेहतर तरीके से ध्यान दिया जाए। आक्सीजन सिलिडरों की आपूर्ति के साथ ही उनकी रीफलिग कर ली जाए। साथ ही ग्राम पंचायत स्तर पर गठित टीमों को भी आवश्यक निर्देश देते हुए कार्रवाई करें। जो भी बाहर से आ रहे हैं उनकी जांच की जाए।

To Top