Almora News

दाद देनी पड़ेगी…सात किमी पैदल चलकर अल्मोड़ा के दुर्गम गांव में पहुंची DM वंदना सिंह


Ad
Ad

अल्मोड़ा: कुछ अधिकारियों का जनता से एक खास रिश्ता होता है। यह अधिकारी अपने दफ्तर में नहीं बल्कि जनता के बीच नजर आते हैं। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है अल्मोड़ा की डीएम वंदना सिंह ने…दरअसल अल्मोड़ा के दुर्गम क्षेत्र में बसे गांव में जाने के लिए डीएम वंदना ने 7 किलोमीटर पैदल यात्रा पूरी की।

Ad
Ad

बता दें कि अल्मोड़ा के लमगड़ा ब्लॉक में स्थित दो घोड़ियां गांव दूरस्थ और दुर्गम इलाके में स्थित है। यहां हर कोई आसानी से नहीं पहुंच सकता। अधिकारियों और सरकारी कर्मचारियों को आने में तो यहां सालों लग जाते हैं। यहां पर सड़क भी नहीं है कि किसी साधन से पहुंचा जा सके।

लेकिन अल्मोड़ा की जिलाधिकारी वंदना सिंह ने कुछ खास करके दिखाया है। डीएम वंदना सिंह अलग-अलग विभागों के अधिकारियों को अपने साथ लेकर गांव पहुंच गईं। इसके लिए उन्हें 7 किलोमीटर पैदल चलना पड़ा। डीएम ने वहां पहुंच कर गांव वालों से हालचाल जाना। लोनिवि के अधिकारियों ने बताया कि 2015 से गांव में सड़क बनने की बात हो रही है। लेकिन फॉरेस्ट क्लीयरेंस नहीं मिला है।

इस पर तुरंत डीएम वंदना सिंह ने मामले का निस्तारण करने का आश्वासन दिया है। इसके साथ ही डीएम वंदना ने गांव की पेयजल लाइनों में होने वाली दिक्कत से भी निजात दिलाने के लिए 1 हफ्ते का समय दिया है। नई पेयजल लाइन टेंडर के लिए भी निर्देश दिए हैं। साथ ही डीएम वंदना सिंह ने गांव में सिंचाई के लिए छोटी झील निर्मित करने और जानवरों से खेतों को बचाने के लिए दीवार बनाने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि गांव में बिजली का जाल झूल रहा है। जिस वजह से कभी भी कोई भी बड़ा हादसा हो सकता है। इसे ठीक करने के लिए भी डीएम वंदना सिंह ने बिजली विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। इसमें कोई दोराय नहीं कि डीएम ने सराहनीय प्रयास किया है। उनकी तारीफ हर जगह हो रही है। वाकई चर्चा होना बनता भी है। क्योंकि सब अधिकारी 7 किलोमीटर पैदल चलकर एक गांव का हाल चाल लेने नहीं जाते।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top