Chamoli News

उत्तराखंड के अनुभव डिमरी का हुआ IAS में चयन, डिम्मर गांव में दोगुना हो गया नए साल का जश्न



हल्द्वानी: संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) ने शुक्रवार को सिविल सेवा (मुख्य) परीक्षा, 2020 की आरक्षित सूची के अंतिम परिणाम जारी किए। 836 रिक्तियों के खिलाफ कुल 761 उम्मीदवारों की सिफारिश की गई थी। ये सिफारिश भारतीय प्रशासनिक सेवा (Indian Administrative Service), भारतीय विदेश सेवा (Indian Foreign Service), भारतीय पुलिस सेवा (Indian Police Service) और केंद्रीय सेवा (Central Services) के ग्रुप ए तथा ग्रुप बी में नियुक्ति हेतु योग्यता के आधार पर की गई है।

Ad

आयोग ने सिविल सेवा परीक्षा नियमावली के नियम 16 (4) और (5) के अनुसार संबंधित श्रेणियों के तहत अंतिम अनुशंसित उम्मीदवार के नीचे योग्यताक्रम में एक समेकित आरक्षित सूची भी तैयार की थी।कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग द्वारा की गई मांग के अनुसार, शेष पदों को भरने के लिए आयोग ने सिविल सेवा परीक्षा, 2020 के आधार पर अब 75 उम्मीदवारों की सिफारिश की है।

इस लिस्ट में उत्तराखंड के अनुभव डिमरी का नाम भी शामिल रहा। चमोली के डिम्मर गांव निवासी अनुभव डिमरी ने यूपीएससी क्लियर कर पूरे राज्य का नाम रौशन किया है। इस बारे में बदरीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट ने फेसबुक पोस्ट के जरिए जानकारी दी। चमोली जिले के कर्णप्रयाग तहसील के डिम्मर गांव के चंद्रशेखर डिमरी के बेटे अनुभव डिमरी को पूरा प्रदेश बधाई दे रहा है। अनुभव के पिता चंद्रशेखर डिमरी सेना से रिटायर होने के बाद रेलवे सुरक्षा में कोलकाता में तैनात हैं।

अनुभव ने बीएससी कंप्यूटर साइंस से 2019 में परीक्षा उत्तीर्ण की। इसके बाद अनुभव ने आईएएस ऑफिसर बनना था। उन्होंने बीएससी उत्तीर्ण करने के पश्चात वह यूपीएससी परीक्षा की तैयारियों में जुट गए। यूपीएससी 2020 की परीक्षा को उत्तीर्ण कर उन्होंने अपने सपने को सच कर दिखाया। ग्रामीणों का कहना है कि एक साधारण परिवार से निकलकर अनुभव ने जीवन संघर्ष के क्षेत्र में सबसे बड़ा मुकाम हासिल किया है। डिम्मर गांव के युवा इससे प्रेरित होंगे।

To Top