Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी भोटियापड़ाव में दस रुपए की सिगरेट के पीछे फोड़ दिया दुकानदार का सिर


हल्द्वानी भोटियापड़ाव में दस रुपए की सिगरेट के पीछे फोड़ दिया दुकानदार का सिर
Ad
Ad

हल्द्वानी: सबसे खतरनाक विवाद वही होते हैं जो मामूली सी बात पर अचानक से बड़े हो जाते हैं। हल्द्वानी (Haldwani) से बीते दिन ऐसा ही एक मामला सामने आया है। एक सिगरेट के पीछे ग्राहक ने दुकानदार का सिर (Shop owner attacked) फोड़ दिया। भोटियापड़ाव पुलिस चौकी क्षेत्र के इस मामले में दुकानदार बच गया है। मगर उसे सिर में 12 टांके लगे हैं।

Ad
Ad

गौरतलब है कि आजकल के युग में सहनशीलता (Tolerance) के लिए कोई जगह नहीं रही है। अगर सहनशीलता से काम लिया जाता तो आमतौर पर सड़कों पर होने वाले विवादों में लोगों की जान पर नहीं बनती। दुखद ये भी है कि इंसान दूसरों से सबक नहीं लेता है। इस तरह की खबरें देखकर मनुष्य अफसोस जरूर करता है। लेकिन वह कभी खुद भी ऐसा कर सकता है, इसका सवाल नहीं खोजता।

बहरहाल हल्द्वानी के भोटियापड़ाव क्षेत्र (Haldwani Bhotia Padav Area) में सोमवार को गंभीर मामला सामना आया है। यहां पर देवेंद्र गुप्ता अपना जनरल स्टोर (General store) चलाते हैं। बीते दिन क्षेत्र में ही निवास करने वाले मनीष नामक व्यक्ति ने सिगरेट पीने के लिए दुकान का रुख किया। आरोप है कि इस दौरान दुकानदार ने सिगरेट (Cigarette) खरीदने पर मनीष से 10 रुपए मांगे। मगर इसे लेकर विवाद हो गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड हाईकोर्ट ने उत्तराखंड क्रिकेट संघ को दी राहत, सचिव और प्रवक्ता की गिरफ्तारी पर रोक

मनीष ने कहा कि दस रुपए पहले से ही जमा हैं। इतना कहने पर दोनों में कहासुनी (verbal fight) हो गई। कहासुनी कब बढ़ती चली गई पता ही नहीं चला। दुकान का विवाद देखते ही देखते सड़क पर आ पहुंचा। इसी बीच ग्राहक ने पत्थर उठाकर देवेंद्र के सिर पर मार दिया। उसके सिर से खून बहने लगा तो स्थानीय लोगों ने आनन फानन में अस्पताल पहुंचाया।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल रोड के पास निर्माणाधीन बिल्डिंग में मिला शव,पहले भी बिल्डिंग में मिल चुकी हैं दो बॉडी

बता दें कि अस्पताल में दुकानदार के सिर पर 12 टांके लगाने पड़े। भोटियापड़ाव पुलिस चौकी इंचार्ज (Police station incharge) संजय बृजवाल ने जानकारी दी और बताया कि पीड़ित की ओर से सौंपी तहरीर की जांच की जा रही है। ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि समाज में थोड़ी सी सहनशीलता आ जाए तो इस तरह के मामलों की संख्या कम हो जाएगा।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top