Ad
Election Talks

सबसे बड़ी खबर, खटीमा से चुनाव हारे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

खटीमा (03.00 PM)

खटीमा से इस वक्त की सबसे बड़ी खबर सामने आ रही है। खटीमा से भाजपा प्रत्याशी और प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी चुनाव हार गए हैं। उन्हें कांग्रेस प्रत्याशी भूवनचंद्र कापड़ी के हाथों करारी हार का सामना करना पड़ा है। भाजपा भले ही प्रदेश में बहुमत लेकर आने में सफल हुई हो। मगर पुष्कर सिंह धामी की हार भाजपा के हाईकमान को भी विचलित कर सकती है। कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष भुवन चंद कापड़ी ने भाजपा के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को 6951 मतों से करारी शिकस्त दी। कुल 91325 मतों में से पुष्कर सिंह धामी को 40675 एवं कांग्रेस के भुवन कापड़ी को 47626 वोट मिले।

खटीमा (11.46 AM)

उत्तराखंड में भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस पर बढ़त बनाई हुई है। रुझानों की मानें तो भाजपा को 40 से भी ज्यादा सीटें मिल रही है। लेकिन खटीमा सीट पर चुनाव दिलचस्प बना हुआ है। काफी समय तक पीछे रहने के बाद अब मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपनी सीट पर आगे आ गए हैं। खटीमा सीट से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी 1000 वोटों से आगे चल रहे हैं। जबकि भूवनचंद्र कापड़ी अब दूसरे स्थान पर चल रहे हैं।

खटीमा (11.10 AM)

खटीमा विधानसभा सीट पर भी घमासान लगातार जारी है। यह पहले से ही माना जा रहा था कि खटीमा का मुकाबला इस बार आसान नहीं होने वाला है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भाजपा के अधिकृत प्रत्याशी हैं। फिलहाल वक्त में सीएम धामी खटीमा सीट से पीछे चल रहे हैं। जी हां, सीएम धामी महज 30 वोटों के मार्जिन से पीछे चल रहे हैं। कांग्रेस के प्रत्याशी भूवनचंद्र कापड़ी फिलहाल पहले स्थान पर है।

(08.38 AM, 10 March)

शुरुआती रुझानों में भारतीय जनता पार्टी के लिए अच्छी खबर सामने आ रही है। खटीमा से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी आगे चल रहे हैं। बता दें कि 8:00 बजे से मतगणना शुरू हो गई थी। सबसे पहले पोस्टल बैलट की गणना की जाएगी। जिसके रुझानों के अनुसार खटीमा से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी फिलहाल अपनी सीट पर आगे चल रहे हैं।

बता दें कि खटीमा से पुष्कर सिंह धामी दो बार विधायक रह चुके हैं। उनके सामने इस बार बड़ी चुनौती है। कांग्रेस ने भुवन कापड़ी को मैदान पर उतारा है। 2017 के विधानसभा चुनावों में भी भुवन कापड़ी ने पुष्कर सिंह धामी को बेहद कड़ी टक्कर दी थी। बहुत कम मार्जिन से पुष्कर सिंह धामी को जीत हासिल हुई थी।

Join-WhatsApp-Group
To Top