Nainital-Haldwani News

सीएम त्रिवेंद्र ने हल की हल्द्वानी गौजाजाली स्कूल की परेशानी, बच्चों को पढ़ाई के लिए मिल गई छत



हल्द्वानी: युवाओं को शिक्षा का अधिकार मिलते रहे, इस तरफ उत्तराखंड में लगातार कार्य हो रहे हैं। राज्य सरकार भी शिक्षा के स्तर को बढ़ाने पर काम कर रही है। नैनीताल जिले में पिछले दो सालों में इन कार्यों को धरातल पर भी उतारा गया है। इसी क्रम में अब राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय गौजाजाली के बच्चों को छत मिल जाएगी। निर्माण के बाद बच्चों को बाहर बैठकर पढ़ाई नहीं करनी पड़ेगा।

Ad

स्कूल में करीब 250 से ज्यादा विद्यार्थी पढ़ते हैं। संसाधनों की कमी को लेकर साल 2019-20 में कक्षाओं के निर्माण व फर्नीचर के लिए प्रस्ताव सरकार को भेजा गया था। युवाओं के भविष्य को देखते हुए फर्नीचर समेत विज्ञान प्रयोगशाला, आर्ट एंड क्राफ्ट कक्ष, पुस्तकालय कक्ष निर्माण हेतु 59.50 लाख रुपए स्वीकृत कर दिए गए थे। पिछले साल फरवरी 2020 में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, सांसद अजय भट्ट और शिक्षामंत्री अरविंद पांडे द्वारा तीनों कक्षों का विधिवत ऑनलाइन शिलान्यास किया गया था। निर्माण कार्य शुरू होता उससे पहले कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन लग गया। कोरोना वायरस के मामले कम हुए तो स्कूल खुलने लगे लेकिन निर्माण नहीं होने से विद्यार्थियों को बाहर बैठकर पढ़ाई करनी पढ़ रही है।

मुख्यमंत्री को हल्द्वानी दौरे के दौरान बच्चों की परेशानियों की जानकारी मिली तो उन्होंने तुरंत अधिकारियों को कार्रवाई तेज करने और स्कूल की इमारत को तुरंत बनवाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री के आदेश के बाद अधिकारी भी स्कूल पहुंचे और जायजा लिया। प्रशासन की कार्रवाई से बच्चों को भी बाहर बैठकर पढाई करने में हो रही मुश्किल खत्म होने की उम्मीद जाग गई है। बता दें कि स्कूल में तीन कक्ष हैं। दो कक्षों में फर्नीचर भरा हुआ है। पांच कक्षाओं के लिए केवल एक कक्ष मौजूद है। ऐसे में अन्य कक्षाओं का संचालन बाहर बैठकर करना पड़ रहा है। कोरोना वायरस के चलते लागू हुए लॉकडाउन में बच्चों की पढ़ाई में काफी नुकसान हुआ है। शिक्षक उस नुकसान की भरपाई करने में लगे हुए हैं। वहीं सीएम त्रिवेंद्र रावत ने भी बच्चों की परेशानी को समझा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top