Uttarakhand News

हरीश रावत के करीबी अब बनेंगे सीएम धामी के खास! विधायक धामी ने कही सीट छोड़ने की बात

Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के बेहद करीबी माने जाने वाले धारचूला के विधायक हरीश धामी ने बगावती तेवर अपना लिए हैं। मीडिया रियर्ट्स के अनुसार हरीश धामी उन 10 विधायकों की लिस्ट में शामिल हैं, जो कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हो सकते हैं। यह सभी 10 विधायक कांग्रेस पार्टी से नाराज चल रहे हैं।

गौरतलब है कि बीते दिनों कांग्रेस पार्टी ने करन माहरा को प्रदेश अध्यक्ष, यशपाल आर्य को नेता प्रतिपक्ष और भुवन कापड़ी को उप नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी सौंपी थी। इसके बाद से ही कांग्रेस के विधायकों में खलबली मचनी शुरु हो गई थी। इसी कड़ी में हरीश धामी ने गुटबाजी को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव पर सीधा निशाना साधा है।

हरीश धामी का कहना है कि उत्तराखंड कांग्रेस में देवेंद्र यादव की वजह से ही गुटबाजी बढ़ी है उन्होंने कहा कि मेरे हिसाब से कोई हरीश या प्रीतम गुट नहीं है। गुटबाजी को बढ़ावा देने का काम देवेंद्र यादव ने किया है। जब गणेश गोदियाल से प्रदेश अध्यक्ष का इस्तीफा ले लिया गया, तो देवेंद्र यादव को भी इस्तीफा देना चाहिए था। उन्होंने इस्तीफा क्यों नहीं दिया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में अवैध निर्माण करने पर सजा नहीं होगी, नियम बदल गया है

इसके अलावा हरीश धामी ने अपनी विधायकी को लेकर भी बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि जनता चाहेगी तो मैं 2014 की तरह विधायकी छोड़ने के तैयार हूं क्षेत्र के विकास के लिए अगर एक बार फिर मेरे इलाके की जनता चाहती है तो मैं इस्तीफा दे दूंगा। अगर पुष्कर सिंह धामी के लिए इस्तीफा देना होगा तो मैं उसके लिए भी तैयार हूं।

यह भी पढ़ें 👉  पहाड़ में फिर हादसा, सड़क पर पलटी गाड़ी, तीन लोग घायल

हरीश धामी ने कहा कि वह करन माहरा और यशपाल आर्य से नाराज नहीं हैं। बल्कि इस बात से नाराज हैं कि उनकी बार-बार अनदेखी की जा रही है। इस समय बड़ी संख्या में विधायक पार्टी से नाराज हैं। सभी विकल्पों पर विचार कर रहे हैं। चाहे अपना दल बनाना पड़े या कोई भी फैसला लेना पड़े। लोकतंत्र के लिए हम कुछ भी करेंगे।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top