Health

कमर के दर्द को नजरअंदाज ना करें, डॉ दीपक मेर ने दिए हैं कुछ टिप्स

Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: भाग दौड़ भरी जिंदगी में हजारों लोग अपनी सेहत का ख्याल नहीं रखते हैं। दिन भर मोबाइल व लेपटॉप के आगे बैठने से वह आर्थिक रूप से तो आगे बढ़ रहे हैं लेकिन सेहत का ग्राफ गिर रहा है। कमर के दर्द की शिकायत अब आम हो गई है। इस विषय में फिजियोथेरेपिस्ट डॉ दीपक मेर ने कुछ जानकारी दी है।

कमर दर्द के कारण

आमतौर पर कमर दर्द का कोई कारण आपको स्पष्ट रूप से नजर नहीं आएगा। जब आप डॉक्टर के पास जाते हैं तो वह टेस्ट और एक्सरे, एमआरआई आदि की मदद से दर्द का कारण जानने की कोशिश करते हैं। कमर दर्द से जुड़ी कुछ स्थितियों में शामिल हैं।

मांसपेशियों या लिगामेंट में किसी तरह का खिंचाव
बार-बार भारी वजन उठाना कमर झुकाने,
अचानक उठने या अचानक रुकने या किसी तरफ मुड़ने पर भी कमर दर्द हो सकता है
अगर आपकी शारीरिक स्थिति खराब है और आपकी पीठ पर लगातार दबाव पड़ रहा है तो मांसपेशियों में दर्द हो सकता है
डिस्क में बल्जिंग या रप्चर डिस्क की समस्या होना
आर्थराइटिस या गठिया की वजह से कमर दर्द हो सकता है
ऑस्टियोआर्थराइटिस की वजह से भी पीठ के निचले हिस्से में दर्द हो सकता है

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड: इस मंदिर में छोटे कपड़े पहनकर आना मना है, मंदिर प्रशासन ने लगाई रोक


ऑस्टियोपोरोसिस

मांसपेशियों में दर्द
अचानक तेज दर्द होना
जलन होना
चाकू चुभने जैसा दर्द होना
दर्द का पैरों की तरफ बढ़ना
पैर मोड़ने, उठाने, चलने या खड़े रहने पर गंभीर दर्द महसूस होना

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में डीएम वंदाना का निरीक्षण, फ्लाईओवर और ओवरब्रिज निर्माण हेतु बनेगा प्लान


डॉक्टर को कब दिखाएं


ज्यादातर मामलों में घरेलू इलाज और आराम करने से कुछ ही हफ्तों में कमर दर्द से राहत मिल जाती है। जब दर्द बहुत ज्यादा हो और घरेलू उपायों व आराम करने पर दर्द में राहत न मिले तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए। निम्न कुछ अवस्थाएं हैं, जब आपको यथाशीघ्र डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

दर्द का कई हफ्तों तक बने रहना
गंभीर दर्द होना और आराम करने पर भी दर्द में राहत न मिलना
दर्द का एक या दोनों पैरों की तरफ बढ़ना, खासतौर पर दर्द घुटनों से नीचे बढ़ना
एक या दोनों पैरों में कमजोरी, सुन्न होना या झुनझुनी महसूस होना
अचानक बिना किसी कारण वजन कम होना
कुछ मामलों में कमर दर्द की वजह से गंभीर मेडिकल समस्या हो सकती है, ऐसे में आपको तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए.
आंत या मूत्राशय से जुड़ी समस्याएं होना
बुखार के साथ ऊपर बताई गई समस्याएं होना
गिरने के बाद पीठ में झटका या कोई चोट लगने पर

यह भी पढ़ें 👉  क्या है संसद में स्थापित हुआ सेंगोल,5000 साल पुराना है इतिहास

अधिक जानकारी के लिए 8218980625 9720408228 पर कॉल करें

To Top