7 वर्ष की बच्ची के साथ गैंगरेप,लहूलुहान हालत में बच्ची को गांव के बाहर खेत में फेंका

0
665

कुशीनगर: जिस देश में लड़कियों को ईश्वर का तोहफा माना जाता है, उन्हें देवी का रूप मान कर नवरात्रियों में पूजा जाता है, ऐसी देवी समान मासूम बेटियां आए दिन हवस का शिकार हो रही हैं। आज हमारे देश की बेटियाँ खुद को सुरक्षित महूसस नहीं कर रही हैं ऐसा ही एक दिल दहला देने वाला मामला यूपी के कुशीनगर नेबुआ नौरंगिया थाने के एक गांव से सामने आ रहा है।

जहां कुछ दरिदों ने 7 वर्ष की बच्ची के साथ गैंगरेप को अंजाम दिया और लहूलुहान हालत में बच्ची को गांव के बाहर खेत में फेंक दिया। पुलिस ने गांव के ही रहने वाले एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और साथ ही दो अन्य आरोपितों की तलाश जारी है। बता दे कि बच्ची को प्राथमिक इलाज के बाद हालात गंभीर होने पर बीआरडी मेडिकल कालेज, गोरखपुर रेफर किया गया।

यह भी पढ़े:उत्तराखंड में 15 हजार की पेंशन का झांसा देकर ठग ने गायब किए 9 लाख रुपए

यह भी पढ़े:वीर को सलाम,उरी में आतंकियों से लोहा लेते हुए 19 साल के निखिल दायमा शहीद

जानकारी के अनुसार बच्ची घर के बाहर परिवार वालों के साथ अलाव सेक रही थी। परिवार वाले खाना खाने घर के अंदर गए जब वापस आकार देखा तो बच्ची वहां पर नहीं थी। परिवार वालों ने बच्ची की तलाश की पर बच्ची आस पास कही ना मिली। परिवार वाले बच्ची की तलाश में गांव के बाहर पहुंचे तो खेत में उसके रोने की आवाज सुनाई दी। जब परिवार वालों ने बच्ची को उस हालत में देखा तो परिजन अपने होश खो बैठे। बच्ची के पिता ने शनिवार की सुबह पुलिस को इसकी सूचना दी। एएसपी एपी सिंह, सीओ शिवस्वरूप ने घटनास्थल का निरीक्षण किया।

खोजी श्वान घटनास्थल के नजदीक मिले छोटे तौलिये को सूंघने के बाद गांव की तरफ भागा और एक घर में घुस गया। पुलिस ने वहां मौजूद युवक को हिरासत में लिया तो उसने बताया कि उसका बड़ा भाई हरेंद्र प्रजापति रात में घबराया हुआ घर पर आया था। कपड़े पर खून के निशान भी लगे हुए थे। एसएचओ पवन सिंह ने हरेंद्र को पास के चौराहे से गिरफ्तार कर लिया साथ ही अन्य आरोपितों की तलाश जारी है। पुलिस के अनुसार अन्य आरोपी भी जल्द पुलिस की हिरासत में होंगे।

यह भी पढ़े:उत्तराखंड में शर्मनाक घटना, चचेरे भाई ने किया सात साल की बहन के साथ दुष्कर्म

यह भी पढ़े:बागेश्वर:महीनों से कमरे में बंद थे बुजुर्ग दंपति,वीडियो वायरल हुआ, दिल्ली से आकर बेटे ने बचाई जान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here