Nainital-Haldwani News

लॉकडाउन में छूटी नौकरी लेकिन हार नहीं मानी, हल्द्वानी में शुरू की स्पेशल Tea शॉप


हल्द्वानी: कोरोना महामारी ने इंसान की कमर ज़रूर तोड़ी, युवाओं की नौकरियों पर गाज़ जरूर गिराई। मगर युवाओं ने आपदा में अवसर को खोज निकाला। ऐसी ही एक कहानी है चंपावत के नरेंद्र बिनवाल की। नरेंद्र बिनवाल ने लॉकडाउन के कारण नौकरी छूटने के बाद अपने दोस्त के साथ हल्द्वानी में स्पेशल चाय की दुकान खोली है। आत्मनिर्भर बनने का यह प्रयास लोगों को खूब भा रहा है। आपको बता दें कि नरेंद्र बिनवाल और विशाल चौधरी की चाय की दुकान ”चाय कुंड भोज कुंड” में 27 प्रकार की चाय उपलब्ध है।

चंपावत निवासी नरेंद्र बिनवाल गुड़गांव में नौकरी करते थे। कोरोना के डर से वह महीनों अपने घर नहीं आ सके। वह गुडगांव के अपने कमरे में ही बंद रहे। इसी बीच उन्होंने आत्मनिर्भर बनने का सपना देखना शुरू किया। उनके दिमाग में कई ख्याल आए जिसको उन्होंने दोस्त हल्द्वानी निवासी विशाल चौधरी के साथ समय समय पर साझा किया। विशाल चौधरी और नरेंद्र बिनवाल पूरे लॉकडाउन, फोन पर व्यवसाय के नए-नए तौर तरीके एक दूसरे से साझा किया करते थे।

यह भी पढ़ें 👉  दुल्हन तीन दिन से इंतजार में, बरात फंसी भीमताल में, सब आपदा का किया धरा है...

यह भी पढ़ें: चारधाम यात्रा शुरू होने से पहले पूरे हो जाएंगे यह सभी काम,भक्तों को मिलेगी राहत

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में ओवर रेट शराब बेची तो रद्द होगा लाइसेंस,एक लाख रुपए जुर्माना और बैन भी

जब आखिरकार जनवरी में नरेंद्र बिनवाल चंपावत आए तो वह पहले अपने मित्र से रूबरू हुए। उन दोनों के पास एक आइडिया था जो देशी भी था और मेहनत से फायदेमंद भी साबित हो सकता था। दोनों ने स्पेशल चाय की दुकान खोलने के बारे में सोचा। तब उन्होंने एक चाय की दुकान खोजनी शुरू की। हालांकि दुकान खोजने में खासा मुश्किल आई, वजह यह कि उन्हें उनके बजट के अनुसार कहीं पर भी दुकान नहीं मिल पा रही थी। लेकिन कहते हैं ना हिम्मत करने वाले के साथ तो भगवान भी खड़ा रहता है।

यह भी पढ़ें 👉  सड़कें बंद हैं तो हेली सेवा के जरिए अपनों तक पहुंच रहे हैं लोग,तीन दिन में हुई रिकॉर्ड बुकिंग

ऐसे में दुकान मिली और उन्होंने दुकान में सीमित संसाधनों में ही काम शुरू करवाए। विशाल चौधरी बताते हैं कि दुकान में सारे चाक-चौबंद करने के लिए बड़ी दिक्कतों का सामना इसलिए भी करना पड़ा क्योंकि दोनों मित्रों के पास ही गाड़ी की व्यवस्था नहीं थी और इन दोनों को पैदल ही हर चीज सुनिश्चित करने के लिए जाना पड़ता था।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में सड़क हादसों के आंकड़ें जारी,गांव में शहरों से ज्यादा हो रही हैं मौत

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:स्कूलों के खुलने को लेकर गाइडलाइन जारी, जिलाधिकारियों को दी गई अहम जिम्मेदारी

बहरहाल बिग बाजार के सामने स्थित दुकान का शुभारंभ 30 जनवरी को किया जा चुका है। दुकान का नाम चाय कुंड भोज कुंड रखा गया है। इस दुकान की खासियत है कि यहां पर 27 तरह की चाय उपलब्ध हैं। इसके साथ अन्य खाने के सामान भी आपको यहां मिल सकते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी आवास विकास निवासी मीनाक्षी जोशी का हुआ भारतीय अंडर-19 चैलेंजर ट्रॉफी में चयन

खास बात यह भी है कि दुकान का नाम तो देशी है ही। इसके साथ ही हरेक चाय को मिट्टी के कुल्हड़ों में भरकर ग्राहकों को दिया जाता है। दोनों मित्र बताते हैं कि मिट्टी के कुल्हड़ के इस्तेमाल से एक तो प्लास्टिक डिस्पोज़ल से होने वाले प्रदूषण पर रोक लगती है। दूसरा मिट्टी का काम करने वाले गरीब तबके के परिवारों को भी इससे खासा फायदा मिलता है। खैर अब यह दुकान की गाड़ी निकल पड़ी है और आत्मनिर्भरता की तरफ तेज़ी से अग्रसर है।

यह भी पढ़ें: किच्छा में 450 कैदियों के लिए 48 करोड़ की लागत से बनेगी जेल, सरकार ने जारी की पहली किस्त

यह भी पढ़ें: जिम कॉर्बेट पार्क की गाड़ियों में लगेंगे GPS, होगी पर्यटकों और जीवों की सुरक्षा, नियम तोड़े तो खैर नहीं

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top