Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी में हुए हत्याकांड से पूरा देश चौंका, प्रेमी को सांप से कटवाकर प्रेमिका हो गई फरार


Haldwani News: हल्द्वानी में अंकित चौहान हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने मंगलवार को कर दिया है। इस मामले में सभी को चौंका कर रख दिया क्योंकि यह हत्याकांड ब्रेकअप करने के लिए हुई। अंकित चौहान से छुटकारा पाने के लिए प्रेमिका ने उसे सांप से कटवा कर मार डाला। इस काम में कुल 4 लोगों ने प्रेमिका माही आर्या का साथ दिया। पुलिस ने इस मामले में सपेरे को तो गिरफ्तार कर लिया है लेकिन अन्य चार आरोपी फरार चल रहे हैं। इस मामले की जांच में जुटी पुलिस को जब सच्चाई का पता चला तो वह भी चौक गई। ( Ankit Chauhan Case police)

अंकित चौहान हत्याकांड के हुआ खुलासा

एसएसपी पंकज भट्ट ने प्रेस वार्ता में बताया कि 15 जुलाई को तीनपानी गौलापार के पास कार के अंदर एक युवक का शव बरामद हुआ था। युवक की पहचान अंकित चौहान पुत्र धर्मपाल चौहान निवासी रामबाग कॉलोनी हल्द्वानी के रूप में हुई थी। शव के मिलने के बाद से ही अंकित के परिजनों को हत्या होने का शक था। अंकित के दोनों पैरों के पिछले हिस्सों में दो बार सांप काटने के निशान थे और पोस्टमार्टम में भी सांप के कांटे जाने की पुष्टि हुई थी। अंकित के परिवार ने हल्द्वानी कोतवाली में तहरीर दी जिसके बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी। ( Ankit Chauhan Murder Case)

कॉल डिटेल्स ने दिया पुलिस को क्लू

इसके लिए पुलिस की चार टीमों का गठन किया गया था। सबसे पहले अंकित के मोबाइल को सर्विलांस में लगाया गया और फिर मामला खुलता चला गया। अंकित की कॉल डिटेल्स के आधार पर एक सूची तैयार की। इसके साथ ही मृतक के दोस्तों और रिश्तेदारों से भी पूछताछ की गई और जांच में पता चला कि अंकित की एक महिला मित्र है जो उसे काफी वक्त से ब्लैकमेल कर रही है। इस काम में उसके कई साथी भी शामिल है। इस बारे में भी पुलिस को जानकारी मिली। अंकित का जिस युवती के साथ रिश्ता था उसका नाम माही आर्या उर्फ डॉली है। आखिरी बार अंकित डॉली से मिला था और अगले दिन पुलिस को उसकी बॉडी मिली। अंकित के बाद पुलिस ने माही के भी नंबर को सर्विलांस में लगाया,उसमें पाया कि वह एक नंबर पर लगातार बात कर रही है और यह नंबर रमेश नाथ नाम के व्यक्ति का मिला। पुलिस ने रमेश नाथ की कुंडली निकाली तो पता चला कि वह हल्द्वानी में किराए के घर में रहता है और एक सपेरा है। इसके अलावा पुलिस ने सीसीटीवी को भी खंगाला। पकड़े जाने के बाद सपेरे ने पुलिस को पूरी सच्चाई बता दी। ( Ankit Chauhan and Snake byte)

सपेरे को किया गिरफ्तार

हत्याकांड में शामिल रमेश नाथ हल्द्वानी मानपुर पश्चिम में रहता है। वो करीब 7- 8 महीने पहले ही एक युवक के माध्यम से गौरापड़ाव निवासी माही आर्य से मिला। इसके बाद रमेश नाथ को बताया गया कि माही पर कालसर्प योग है और पूजा के लिए एक नाक को पकड़ कर लाना है। रमेश नाथ ने माही का ये काम कर दिया और फिर उसका माही के घर आना जाना शुरू हो गया।

अंकित की प्रेमिका का नया प्रेमी

माही आर्य के घर पर ही सपेरा अंकित, दीप कांडपाल ,उषा और उसके पति राम अवतार से मिला। हत्याकांड से करीब 3 हफ्ते पहले माही ऊर्फ डॉली के घर में दीप कांडपाल ने बताया कि दोनों एक दूसरे से प्रेम करते हैं लेकिन अंकित युवती के साथ मारपीट करता है और उसे नहीं छोड़ रहा है। इसके बाद उन्होंने अंकित को मौत के घाट उतारने का प्लान बनाया। रमेश नाथ को इस काम के लिए ₹10000 देने की बात हुई और उसे सांप पकड़कर लाने का काम दिया गया जिससे वो अंकित को कटवाकर मारना चाहते थे। इस काम में साथ देने के लिए नौकरानी और उसके पति को भी ₹10000 देने की बात तय हुई।

अंकित की मौत, सांप से कटवाया

सपने में पुलिस को बताया कि 15- 20 दिन पहले उसने एक जहरीले सांप को जंगल से पकड़ा और डॉली ने प्लान बनाया था कि अंकित के जन्मदिन के दिन यानी 8 जुलाई को मौत के घाट उतार देंगे लेकिन उन्हें कामयाबी नहीं मिली क्योंकि अंकित शराब पार्टी करने के बाद भी देर रात तक नहीं सोया। इसके बाद डॉली ने 14 जुलाई को सपेरे को घर में बुलाया। इसके अलावा डोली के घर में प्रेमी दीप कांडपाल, रामअवतार और उसकी पत्नी उषा भी मौजूद थी। डॉली ने सभी को अंदर छुप जाने को कहा और अंकित को बेहोश करने के बाद सभी को बुलाया। पकड़े गए आरोपी ने पुलिस को बताया कि यह वारदात 14 जुलाई रात 8 बजे की है। अंकित के बेहोश होने के बाद सपेरा सांप लेने गया तो उसने देखा कि घर में मौजूद डॉली के साथी अंकित के ऊपर कंबल डाले हुए उसे दबाए हुए हैं। इसके बाद सपेरे ने अंकित के पैरों में सांप से कटवाया। शरीर में कुछ हरकत हुई तो दूसरी बार अंकित के पैर में सांप से कटवाया गया और फिर उसके मरने का इंतजार किया गया।

एक गिरफ्तार, चार फरार

अंकित की मौत होने के बाद उसके शव को ठिकाने लगाने के लिए सभी भुजियाघाट गए और प्लान बनाया कि उसे नीचे फेंक देंगे लेकिन वहां पर कुछ लोग मौजूद थे। इसके बाद उसकी कार को लेकर गौला बाईपास रोड पर पहुंचे और फिर वहां से फरार हो गए। डॉली ने हल्द्वानी से फरार होने के लिए दिल्ली से टैक्सी मंगवाई थी जिसमें बैठकर सभी लोग भाग गए। सपेरे ने सांप को जंगल में छोड़ दिया और फिर डोली ने उसे ₹10000 दे दिए। सपेरा रमेश नाथ रुपए लेकर अपने गांव भोजीपुरा यूपी चले गया लेकिन जब वह हल्द्वानी वापस लौटा तो पुलिस ने उसे पकड़ लिया। फिलहाल पुलिस द्वारा फरार हुए अन्य चार आरोपियों की तलाश जारी है। एसएसपी पंकज भट्ट ने खुलासा करने वाली टीम को ₹5000 नगद पुरस्कार देने की भी घोषणा की।

To Top