Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी: रानीबाग चौराहा होगा चौड़ा, एक अतिरिक्त पुल बनाने की तैयारी भी शुरू


हल्द्वानी: काठगोदाम नैनीताल शहर की यातायात व्यवस्थाओं को सुगम एवं सुविधायुक्त बनाने हेतु विगत में हल्द्वानी काठगोदाम क्षेत्र में 14 जंक्शन पॉइंट्स को सुधारीकरण हेतु चिन्हित किया गया है। जिसके क्रम में रानीबाग चौराहे का जिलाधिकारी द्वारा निरीक्षण किया गया तथा तात्कालिक एवम दीर्घकालीन उपायों हेतु निर्मित डीपीआर में प्रस्तावित कार्यों के संबंध में एनएच के अधिकारियों को शीघ्र कार्यवाही हेतु निर्देशित किया। रानीबाग चौराहे पर निर्माण हेतु प्रस्तावित अतिरिक्त पुल की डीपीआर बनाने के निर्देश भी अधिकारियों को दिए गए ।

डीएम ने कहा कि हल्द्वानी से काठगोदाम तक यातायात को सुव्यवस्थित एवं सुगम बनाने के लिए हल्द्वानी शहर के विभिन्न ऐसे स्थानों को चिन्हित किये गये थे जिन्हे सुधारीकरण एवं विस्तारिकरण की आवश्यकता है ताकि शहर में यातायात व्यवस्था को सुगम बनाया जा सके, जिसके लिए डीपीआर सम्बन्धित विभाग द्वारा बनाई गई है जिसमें रानीबाग चौराहे को भी एनएच के माध्यम से चौड़ीकरण एवं विस्तारिकरण का कार्य किया जाना है ।

उसके बाद क्षेत्र में अत्याधिक बारिश होने के कारण कई स्थानों पर भूस्खलन एवं क्षतिग्रस्त सड़क मार्गो का जिलाधिकारी वंदना ने सम्बन्धित अधिकारियों के साथ जायजा लिया। इस दौरान डीएम ने दोगांव के समीप एनएच रोड पर भू-कटाव, वीरभट्टी पुल क्षेत्र के अन्तर्गत भूस्खलन, रूसी बाईपास मे कई जगहों पर क्षतिग्रस्त सड़क, नवनिर्मित सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में हो रहे भूकटाव के साथ ही विगत दिनों अतिक्रमण से मुक्त मेट्रोपोल क्षेत्र में प्रस्तावित पार्किंग एवम रिंग रोड हेतु चिन्हित स्थल का सम्बन्धित अधिकारियों के साथ निरीक्षण करते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: श्री अन्य महोत्सव का आयोजन, गृहमंत्री अमित शाह सहित दो राज्यों के सीएम भी पहुंचेंगे

इसी क्रम में दोगॉव एनएच रोड भूस्खलन क्षेत्र के निरीक्षण के दौरान डीएम ने एनएच के अधिशासी अधिकारी को वन विभाग एवं वन निगम के साथ समन्वय बनाते हुए संवेदनशील पेडों को चिन्हित करते हुए उनका कटान करने एवं एनएच के चौड़ीकरण के साथ ही सड़क के दोनो तरफ सुरक्षा दीवार निर्माण हेतु स्टीमेट बनाते हुए उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

निरीक्षण के दौरान डीएम ने विगत दिनों शत्रुसम्पत्ति में अवैध अतिक्रमण हटाये गये क्षेत्र में भविष्य के लिए सुविधायुक्त प्रस्तावित सरफेस पार्किंग से सम्बन्धित कार्यो की प्रगति की जानकारी सम्बन्धित अधिकारियों से ली। उन्होंने कहा कि नैनीताल शहर में पर्यटन सीजन के दौरान यातायात बढ़ने के कारण आये दिन पार्किंग की असुविधा बनी रहती है जिसके लिए सुविधायुक्त पार्किंग के अलावा चीनाबाबा चौराहे से वन-वे रिंग रोड के निर्माण के अलावा विभिन्न निर्माण कार्य किया जाना है, जिसके अन्तर्गत प्रथम चरण के निर्माण कार्यो के लिए बीस करोड़ की डीपीआर तैयार की गई है। निरीक्षण के दौरान रूसी बाईपास रोड पर कई स्थानों पर भूस्खलन से सड़क मार्ग क्षतिग्रस्त होने पर जिलाधिकारी ने लोनिवि को उक्त सड़क पर ड्रैनेज सिस्टम को सुधारने के लिए विशेषज्ञ एजेंसी से सर्वे कराते हुए डीपीआर बनाने के निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें 👉  पुराने दोस्तों को नहीं भूलते हैं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, स्वर्गीय चंदन रामदास है उदाहरण

इसके अलावा उन्होंने रूसी बाईपास रोड पर नवनिर्माण प्रस्वावित सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के क्षेत्रान्तर्गत हुए भूस्खलन का भी निरीक्षण किया।निरीक्षण के दौरान भू-स्खलन से प्लांट के कर्मचारी आवास को खतरे की सम्भावना को देखते हुए डीएम ने उपजिलाधिकारी नैनीताल एवम सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के प्रोजैक्ट मैनेजर को आवास परिसर को अन्य स्थान को चिन्हित करने की संभावना पर विचार करते हुए भूमि चयन करने के निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी पहुंचेंगे गृह मंत्री अमित शाह, श्रीअन्न महोत्सव की तैयारी हुई तेज


निरीक्षण दौरान के सचिव प्राधिकरण पंकज उपाध्याय, अपर जिलाधिकारी शिवचरण द्विवेदी, उपजिलाधिकारी राहुल साह, अधिशासी अभिन्यता एनएच विजय कुमार , अधिशासी अभिन्यता लोनिवि रत्नेश कुमार,उत्तराखण्ड अर्बन डवलपमेंट प्रोजेक्ट प्रबन्धक कुलदीप, ईओ नगर पालिका आलोक उनियाल, तहसीलदार संजय कुमार के अलावा सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।

To Top
Ad
Ad