Nainital-Haldwani News

कैंची धाम से लौट रहे पर्यटकों की पुलिस ने बचाई जान, लोग बोले- नीम करौली बाबा के दूत

हल्द्वानी: उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में सड़क हादसों के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। पुलिस प्रशासन खुद सड़क हादसों के ग्राफ को कम करने के लिए तमाम प्लान तैयार कर रहा है। इसके अलावा परिवहन निगम भी बीच-बीच में गाइडलाइन जारी करता है। कई बार सड़क हादसों में एसडीआरएफ की टीमों ने जनहानि को बचाया है। वक्त पर घटना स्थल पर पहुंचकर घायलों को अगर हॉस्पिटल में भर्ती कराने की कई जाने बची भी हैं। इसलिए उत्तराखंड पुलिस व सरकार की कोशिश है कि राज्य मार्गों पर भी पुलिस चौकी स्थापित हो, ताकि सूचना का आदन प्रदान तेजी से हो पाए।

इसी तरह का एक मामला नैनीताल जिले से सामने आया है। सूचना मिलने पर पहुंची काठगोदाम पुलिस ने एक परिवार को होली से पहले नया जीवन दिया है।  पुलिस ने तीन पर्यटकों को  रेस्क्यू कर जान बचाई है। इस बारे में नैनीताल पुलिस ने फेसबुक के लिए जानकारी दी।

जानकारी के मुताबिक, घटना मंगलवार शाम की है। दिल्ली से तीन पर्यटक कैंची धाम मंदिर के दर्शन करने के लिए पहुंचे थे। तीनों वापस लौट रहे थे कार काठगोदाम के गुलाबघाटी क्षेत्र में अनियंत्रित होकर सड़क से नीचे खाई में गिर गई।  राहगीरो की सूचना पर काठगोदाम थानाध्यक्ष प्रमोद पाठक अपनी पुलिस टीम के साथ तुरंत मौके पर पहुंचे और रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर तीनों  बचाया। उन्होंने घायल पर्यटकों को सरकारी वाहन से  नैनीताल रोड स्थित एक हॉस्पिटल में भर्ती कराया।

घायलों की पहचान मोहित मिश्रा पुत्र विजय शंकर निवासी डी-11, संजय मोहल्ला, भजनपुरा नोएडा दिल्ली, उनकी पत्नी प्रीति मिश्रा एवं पुत्र जितिशा मिश्रा के रूप में हुई है।  काठगोदाम पुलिस ने होली से पहले परिवार को नया जीवन दिया है। इसके अलावा कई लोगों ने काठगोदाम पुलिस के कार्य को नीम करौली बाबा के चमत्कार से भी जोड़ा है। पुलिस टीम में फिरोज आलम, प्रभारी चौकी मल्ला काठगोदाम, एएसआई मनोहर सिंह, एएसआई अरविंद सिंह,कॉस्टेबल  लोकेश, कॉस्टेबल संतोष, कॉस्टेबल प्रमोद, कॉस्टेबल करतार शामिल थे।

To Top