Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी में पक्की सड़क नहीं खोदेंगे ठेकेदार, जनता की शिकायत के बाद डीएम वंदना के निर्देश


हल्द्वानी: जिलाधिकारी वंदना ने जनपद में जल जीवन मिशन के अन्तर्गत होने वाले कार्यों की बैठक में कहा कि आमतौर पर प्रतिदिन जनता से शिकायत प्राप्त हो रही है कि क्षेत्र में जल जीवन मिशन का कार्य रहे ठेकेदारों द्वारा सड़क के किनारे पर कच्ची सड़क होने के बावजूद सड़कों को बीच से खोदकर पेयजल लाइन बिछाने का कार्य किया जाता है। साथ ही समय से सड़क को रिस्टोर भी नहीं किया जाता जिससे आमजन को काफी समस्या का सामना करना पड़ता है। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने अधीक्षण अभियंता जल निगम व जल संस्थान को सख्त निर्देश दिये कि जहाँ पर कच्ची सड़क उपलब्ध है वहाँ हर हाल में सड़कों के किनारे की कचरी सड़क को खोदकर ही पेयजल लाइन बिछाई जाए व तत्काल सड़कों को रिस्टोर किया जाए।

जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता जलनिगम एवं जलसंस्थान को प्रोएक्टिव होकर योजनाओं के स्थलीय निरीक्षण करने के साथ ही हर हाल में मार्च, 2024 तक जल जीवन मिशन के कार्यों को पूर्ण करने के निर्देश दिये। कहा कि कार्य की गुणवत्ता को बनाए रखने व बेहतर समन्वय हेतु ईई स्वयं व अपने अधीनस्थ ऐई व जेई के स्थलीय निरीक्षण की मोनिटरिंग करें।

वर्तमान में जलजीवन मिशन योजना के अन्तर्गत 257 स्कूलों व 74 आंगनवाड़ी केंद्रों को जल संयोजन दिया जाना है। किसी भी विद्यालय व आंगनवाड़ी केंद्रों जल संयोजन से रह न जाए इस हेतु जिलाधिकारी ने मुख्य शिक्षा अधिकारी व जिला कार्यक्रम अधिकारी को पेयजल संयोजन के पश्चात सबंधित विद्यालय व केन्द्र का भौतिक सत्यापन कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि भौतिक सत्यापन में सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी विद्यालय व केन्द्र में पेयजल संयोजन के साथ ही पानी की आपूर्ति भी सुचारू रहे।

जिलाधिकारी ने कहा की यदि किसी कारणवश भूमि सम्बन्धित समस्या के कारण योजना के क्रियान्वयन में देरी आ रही है तो तत्काल सम्बन्धित उपजिलाधिकारी से वार्ता कर वैकल्पिक भूमि चिन्हित कर कार्य शुरू करें जिससे ससमय योजना को पूर्ण किया जा सके। इसके साथ ही आपदा में क्षतिग्रस्त पेयजल योजनाओं के आकलन बनाकर प्रषित करें।

बैठक में अधीक्षण अभियंता जल जीवन मिशन विशाल सक्सेना ने बताया कि जनपद में लगभग 934 करोड धनराशि की लागत से कुल 989 योजनाओं पर कार्य होना है जिसमें से 981 योजनाओ के टैंडर प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है, 8 योजनाओें केे टैंडर प्रक्रिया का कार्य भी गतिमान है। जनपद में फेज-1 की 473 योजनाओं के साथ ही फेज-2 की 60 योजनाओं कुल 533 योजनाओं पर कार्य पूर्ण कर लिया गया है।

इस अवसर पर अधीक्षण अभियंता मृदुला, परियोजना निदेशक अजय सिंह, मुख्य शिक्षा अधिकारी के एस रावत, जिला कार्यक्रम अधिकारी मुकुल चौधरी, जिलापंचायत राज अधिकारी सुरेश बैनी सहित अन्य अधिकारी व अभियंता मौजूद थे।

To Top