National News

आइये मिलकर करें अरोड़ा परिवार की मदद, 7 साल की जायस्वी की आप दे सकते हैं नई जिंदगी

source- medtalks.in

हल्द्वानी: सोशल मीडिया की ताकत के बारे में हर कोई जानता है। इसके सही इस्तेमाल ने कई लोगों की परेशानी को दूर किया है। सोशल मीडिया की ताकत ने कई परिवारों को रौशन किया है। इसी तरह की उम्मीद अरोड़ा परिवार को भी है। 7 साल की जायस्वी अरोड़ा अप्लास्टिक एनीमिया जूझ रही है। जायस्वी के पिता पुनीत अरोड़ा और मां शालू अरोड़ा ने इलाज के लिए आप सभी का साथ मांगा है। अप्लास्टिक एनीमिया का इलाज काफी महंगा है। इसके लिए उन्हें 30 लाख रुपए की आवश्यकता है। ऐसे में अगर थोड़ा-थोड़ा योगदान भी किया जाए तो 7 साल की मासूम को नई जिंदगी मिल सकती है।

जानकारी कुछ प्रकार है

संपर्क: पुनीत अरोड़ा- 9971506753

बैंक खाता- 2223330007567285

बैंक- RBL

आईएफएस कोड: RATN0VAPPIS

UPI- assist.jaisvi@icici

क्या है अप्लास्टिक एनीमिया ? कारण, लक्षण और उपचार ?

हमारे शारीरिक विकास के लिए रक्त और अस्थि मज्जा कितना आवश्यक है इस बारे में हम सभी भली-भांति वाकिफ है। लेकिन कई बार बहुत सी ऐसी स्थितियां आ जाती है जिसकी वजह से व्यक्ति को रक्त संबंधित और अस्थि मज्जा से संबंधित रोगों का सामना करना पड़ता है। अप्लास्टिक एनीमिया एक ऐसा ही रोग है जो कि अस्थि मज्जा यानि बोन मरो (bone marrow से संबंधित है। इस लेख में अप्लास्टिक एनीमिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।

अप्लास्टिक एनीमिया क्या है? | What is aplastic anemia? 

अप्लास्टिक एनीमिया एक दुर्लभ और गंभीर चिकित्सा स्थिति है जो किसी व्यक्ति के अस्थि मज्जा में स्टेम कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाती है। अस्थि मज्जा (bone marrow) कोशिकाएं लाल रक्त कोशिकाओं, सफेद रक्त कोशिकाओं और प्लेटलेट्स बनाने के लिए जिम्मेदार हैं, जो मानव स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण हैं। लेकिन इस दौरान यह इन सभी का निर्माण होना कम या आवश्यकता के अनुपात में होना कम होने लगता है। इस स्थिति में रोगी काफी थका हुआ महसूस करता है और संक्रमण और अनियंत्रित रक्तस्राव का खतरा बना रहता है। 

अपल्स्टिक एनीमिया को हाइपोप्लास्टिक एनीमिया (Hypoplastic anemia) और अस्थि मज्जा विफलता (Bone marrow failure) के नाम से भी जाना जाता है। यह एनीमिया अचानक से सामने आ सकता है या यह धीरे-धीरे भी आपके शरीर को प्रभावित कर सकता है। यह गंभीर रोग सामान्य से लेकर गंभीर तक हो सकता है।   

To Top