Health

उत्तराखंड में फिर जली सरकारी दवाएं,लाखो रूपये का आईएफए सिरप हुआ खाक… सचिव आर राजेश कुमार ने किया जवाब तलब .

देहरादून, उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी खरीदारी में कितने मशगूल हैं इस बात की बानगी इसी से लगाई जा सकती है कि अधिकारियों का पूरा फोकस खरीदारी में है समान खपत को लेकर अधिकारियों का कोई सरोकार नहीं है आलम यह है कि करोड़ों रुपए की आईएफए सिरप दवाएं हर साल खरीदी जाती हैं लेकिन उनका उपयोग कर पाने में अधिकारी नाकाम ही साबित होते हैं जिसके चलते अब अधिकारियों को जान बचाने के लिए दवाओं को जलाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है ।। आज भगवानपुर अस्पताल में कुछ इस तरीके के हालात देखने को मिले,जहां पर लाखों रुपए की दवाओं को खाक किया जा रहा था और जलाने वाले विभाग के मुलाजिम ही है।। दरअसल अधिकारियों के द्वारा चहेतों को लाभ पहुंचाने के लिए लाखों रुपए की दवाई तो करा कर ली गई लेकिन उनकी खपत का अंदाजा अधिकारी जरा भी नहीं लगा सके। जिसके चलते अब इन दवाओं को जलाकर जान बचाने की पूरी जुगत भिड़ाई गई।। वहीं दूसरी तरफ दवाओं को जलाने का स्थान भी भगवानपुर अस्पताल में लगे ऑक्सीजन प्लांट से कुछ कदम की दूरी पर ही रहा।। जिसे किसी बड़ी अप्रिय घटना घट सकती थी।। वही सचिव स्वास्थ्य ने मामले का संज्ञान लेते हुए तत्काल अधिकारियों से जवाब तलब किया है उन्होंने कहा कि मामला गंभीर है ऐसे मामलों पर संलिप्तता पाए जाने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।।

To Top