Uttarakhand News

उत्तराखंड में जल्द भरे जाएंगे एनएचएम के 883 खाली पद

हिमालयी राज्यों में उत्तराखंड सबसे नीचे, प्रति व्यक्ति स्वास्थ्य पर खर्च किए केवल 5.38 रुपए

देहरादून:राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत विभिन्न जनपदों में रिक्त 883 पदों को शीघ्र भरा जायेगा। इसके लिये विभागीय अधिकारियों को भर्ती प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दे दिये गये हैं। इसके अलावा राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं को और सुदृढ़ करने के दृष्टिगत प्रदेशभर के विशेषज्ञ चिकित्सकों का पृथक कैडर बनाने एवं उनकी अधिवर्षता आयु 65 वर्ष करने का प्रस्ताव तैयार कर कैबिनेट में लाने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दे दिये गये हैं। वर्ष 2023-24 हेतु विभाग को स्वीकृत वार्षिक बजट व्यय करने के लिये ठोस कार्ययोजना तैयार करने को भी अधिकारियों को कहा गया।

सूबे के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने आज खाद्य संरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग देहरादून के सभागार में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक ली। जिसमें उन्होंने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत संचालित विभिन्न योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन को 883 रिक्त पदों को शीघ्र भरने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये।

डा. रावत ने बताया कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत विभिन्न जनपदों में स्टॉफ नर्स, लैब टैक्नीशियन, मेडिकल ऑफिसर, विशेषज्ञ चिकित्सक, आयुष मेडिकल ऑफिसर, फार्मासिस्ट, काउंसलर, सोशियल वर्कर, मिडवाइफरी एजुकेटर आदि के पद रिक्त चल रहे हैं। विभागीय मंत्री ने बताया कि राज्य में विशेषकर पर्वतीय जनपदों में विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी को देखते हुये उनके लिये पृथक कैडर बनाने तथा अधिवर्षता आयु 65 वर्ष करने का प्रस्ताव राज्य कैबिनेट की बैठक में रखा जायेगा जिसमें विशेषज्ञ चिकित्सकों की अधिवर्षता आयु 65 करने के साथ ही स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति का भी विकल्प दिया जायेगा।

डा. रावत ने बताया कि इससे पर्वतीय क्षेत्रों में विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी को दूर किया जा सकेगा। बैठक में अधिकारियों ने बताया कि एनएचएम के अंतर्गत वर्ष 2022-23 में 831.38लाख का बजट स्वीकृत था जिसमें से 460.40लाख ही खर्च हो पाया। विभागीय मंत्री ने वार्षिक बजट व्यय की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुये अधिकारियों को निर्देश दिये कि वार्षिक बजट को शत-प्रतिशत खर्च करने के लिये ठोस कार्ययोजना तैयार की जाय, जिसकी प्रत्येक माह समीक्षा की जायेगी। उन्होंने एनएचएम के अंतर्गत विभिन्न जनपदों में संचालित निर्माण कार्यों में तेजी लाने के निर्देश अधिकारियों को दिये।

बैठक में सचिव स्वास्थ्य दीपेन्द्र चौधरी, अपर सचिव स्वास्थ्य अरूणेन्द्र सिंह चौहान, अमनदीप कौर, महानिदेशक स्वास्थ्य डा. विनीता शाह, निदेशक एनएचएम डा. सरोज नैथानी, निदेशक कुमाऊं मंडल डा. तारा आर्य, निदेशक स्वास्थ्य डा. सुनीता टम्टा, डा. तरूण कुमार टम्टा, डा. अजीत मोहन जौहरी, अपर निदेशक डा. भागीरथी जंगपांगी, वित्त अधिकारी दिपाली भरने, डॉ. पंकज सिंह, डा. अर्जुन सिंह सेंगर, डा. एम.के. मौर्य डा. अजय नगरकर सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।


स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत मृतक कार्मिकों के आश्रितों को शीघ्र नियुक्ति दी जायेगी। इसके लिये उन्होंने विभागीय अधिकारियों को बिना किसी देरी के नियुक्ति प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अपने सेवाकाल के दौरान आकस्मि मृत्यु होने से कार्मिकों की पारिवारिक स्थिति आर्थिक रूप कमजोर हो जाती है जिसके लिये उनके आश्रितों को बिना किसी बाधा के समय पर नियुक्ति देना जरूरी है।

स्वास्थ्य विभाग में लम्बे समय से प्रशासनिक, तकनीकी, पैरामेडिकल एवं चिकित्सकों के पदोन्नति के रिक्त पदों को शीघ्र भरा जायेगा। इसके लिये अधिकारियों को कार्यवाही के निर्देश दे दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि पदोन्नति के पदों को भरने से विभागीय कार्यां में तेजी आने के साथ ही पारदर्शिता भी आयेगी।

To Top