National News

ममता ने INDI एलायंस छोड़ने की कर दी घोषणा, न्याय यात्रा में हुए अन्याय को बताया कारण

Mamta Banerjee Left INDI Alliance: Injustice of Nyay Yatra: National Politics Update:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सीधी चुनौती देने के लिए कई विपक्षी राजनीतिक दलों ने INDI एलायंस की स्थापना की थी। जिसमें कांग्रेस, टीएमसी, आम आदमी पार्टी, शिव सेना (उद्धव ठाकरे) जैसे मुख्य विपक्षी दल शामिल हुए थे। INDI एलायंस को एक बड़ा झटका देते हुए ममता बेनर्जी ने INDI एलायंस छोड़ने की घोषणा कर दी है।

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी की अध्यक्षा ममता बेनर्जी ने गठबंधन में हो रहे उनके अपमान का हवाला देते हुए यह निर्णय लिया है। ममता ने बयान दिया है कि बंगाल में टीएमसी अपने बलबूते पर भाजपा को हराने में सक्षम है। सूत्रों से मिल रही खबर के अनुसार ममता की नाराज़गी का कारण उनके सुझावों को दरकिनार किया जाना, राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा में ना शामिल होने देना और प्रधानमंत्री चेहरे पर चर्चा के प्रस्ताव को ठुकराना बताया जा रहा है। इतना ही नहीं INDI एलायंस के सूत्रधार बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने भी आज मोदी सरकार द्वारा जननायक कर्पूरी ठाकुर जी को भारत रत्न देने के निर्णय की प्रशंसा की है। परिवारवाद पर अप्रत्यक्ष टिपण्णी करते हुए नितीश कुमार ने कांग्रेस और आरजेडी पर निशाना साधा है।

ममता बेनर्जी के इस निर्णय के साथ ही पंजाब से भगवंत मान ने भी सभी लोकसभा सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। जहाँ एक तरफ माना जा रहा था कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा से विपक्ष की स्थिति आगामी लोकसभा चुनावों में मज़बूत होगी लेकिन यहाँ तो जुड़ने से ज़्यादा दल टूटते नज़र आ रहे हैं। टीएमसी और अन्य कुछ विपक्षी दलों का कहना है कि कांग्रेस की न्याय यात्रा केवल राहुल गांधी का चेहरा प्रधानमंत्री पद के लिए प्रबल करने की एक कोशिश है। इस यात्रा के विषय में INDI एलायंस के साथ किसी भी प्रकार की चर्चा नहीं की गई है।

To Top
Ad