Uttarakhand News

चीन में गरजा पहाड़ का अंगत, Road To UFC के सेमीफाइनल में बनाई जगह


Uttarakhand news: Angad bisht: आज उत्तराखंड की बेटे देश- विदेश में हर क्षेत्र में राज्य का नाम रोशन कर रहें हैं। अपने प्रतिभा का लोहा मनवाने वाले उत्तराखंड के बेटे न केवल अपनी काबिलियत का प्रदर्शन कर रहे हैं बल्कि देवभूमि के नाम का परचम विदेशों में भी लहरा रहें हैं। अपनी मेहनत से राज्य के बेटे देश- विदेश में नए-नए मुकाम हासिल कर रहे हैं। और एक बार फिर उत्तराखंड के बेटे ने देश का नाम रोशन किया है। हम बात कर रहे हैं फाइटर अंगत बिष्ट की जिन्होंने विदेश में एक बार फिर से भारत का परचम लहराया दिया है। ( Angad bisht MMA fighter )

सेमीफाइनल में प्रवेश किया है

दुनिया की सबसे खतरनाक मिक्स मार्शल आर्ट्स प्रतियोगिता यूएफसी में उत्तराखंड के अंगद बिष्ट ने अपने शानदार पैंतरे से चीन में आयोजित Road To UFC मुकाबले में फिलीपींस के जॉन अल्मांजा को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया है। रविवार को चीन में फ्लाईवेट कैटेगरी में मुकाबला शुरू हुआ। मुकाबला शुरू होने के पहले मिनट से ही अंगद अपने प्रतिद्वंद्वी पर हावी होने लगे। अंगद की फुर्ती और शानदार पैंतरे के आगे फिलीपींस के जॉन को मौका तक नहीं मिला। गेम के दौरान अंगद के सामने जॉन की स्ट्रेटजी नहीं चल पाई और गेम पूरा होने से पहले ही रेफरी ने अंगद के वार और फुर्ती को देखकर टेक्निकल नॉकआउट फैसला लेकर अंगद के पक्ष में फैसला दे दिया। अंगद सेमीफइनल में पहुँच गए हैं और उनका मुकाबला कोरिया के रेसलर चाई डोंग हुन से होगा। ( Angad bisht qualified for semifinals for road to ufc match )

अंगद का सपना डॉक्टर बनने का था

मूल रूप से रुद्रप्रयाग जिले के धनपुर पट्टी की ग्राम पंचायत चिनग्वाड़ के मोलखंडी गांव का रहने वाले अंगद मौजूदा समय में देहरादून में रहकर एक ट्रेनिंग सेंटर चलाते हैं। बताते चलें की अंगद का सपना डॉक्टर बनने का था। और उनके पिता मोहन सिंह बिष्ट मिठाई की दुकान चलाते हैं। और वह दुनिया के कई हिस्सों में फाइट के जरिए अपना लोहा मनवा चुके हैं। अंगद ने अपनी मेहनत और लगन से अपने परिवार और उत्तराखंड का नाम रोशन किया है। उनकी इस उपलब्धि पर हल्द्वानी लाइव की टीम की तरफ से उन्हें ढ़ेर सारी बधाई और शुभकामनाएं। ( Angad bisht lives in dedhadun )

To Top