Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी समेत नैनीताल में कार्रवाई के डर से रिकॉर्ड राशन कार्ड निरस्त, आंकड़ा 2400 के पार पहुंचा


Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: राशन कार्ड का मुद्दा इन दिनों खूब चर्चा में है। अपात्र राशन कार्ड धारकों के लिए कार्रवाई का प्लान बनाया जा रहा है। अभियान शुरू करने से पहले लोगों को कार्ड स्वयं सरेंडर करने की अपील की जा रही है। नैनीताल जिले के हल्द्वानी में राशन कार्ड निरस्त करने के लिए विभागीय दफ्तर में लोगों की भीड़ देखने को मिल रही है। कार्ड जमा करने वालों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। हल्द्वानी में करीब 1400 और कुल नैनीताल जिले में 2400 से ज्यादा लोगों ने अपने कार्ड निरस्त करा दिए हैं।

खाद्य विभाग की अपात्र को न, पात्र को हां अभियान के तहत नैनीताल जिला ही नहीं बल्कि पूरे राज्य में राशन कार्ड सरेंडर करने वालों की लाइन अलग-अलग जनपदों के जिला पूर्ति कार्यालय में लग रही है। हालांकि उपभोक्ताओं की ओर से राशन कार्ड की पात्रता और अपात्रता को लेकर अब भी दुविधा बनी हुई है। हालांकि अधिकतर लोग अभियान का हिस्सा बन रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में रामा डेंटल,10 साल से कम बच्चों और 65 साल के बुजुर्गों की OPD फ्री

हल्द्वानी में पूर्ति निरीक्षक रवि सनवाल ने कहा कि अभियान को लोगों का समर्थन मिल रहा है। हम भी चाहते हैं कि राशन जिसके हक का है उसे मिले। करीब 1400 कार्ड हल्द्वानी में और 2400 पूरे जिले में निरस्त हो गए हैं। उम्मीद है कि इस अभियान के बाद जरूरतमंदों के पास राशन पहुंचाने में आसानी होगी। राशन कार्ड धारकों को कुछ संशय भी है जो हम दूर कर रहे हैं। पींक कार्ड उन लोगों का बनेगा जिनकी वार्षिक आमदनी 15 हजार से कम हो। उनका इनकम का कोई स्रोत न हो या वह दिव्यांग, विधवा और बुजुर्ग, जिसका कोई सहारा न हो। 
इसके अलावा सफेद कार्ड इस्तेमाल करने वाले परिवार की वार्षिक आय 15 हजार से ऊपर नहीं होनी चाहिए। सरकारी नौकरी, रिटायर्ड पेंशनर्स, आयकर दाता और दो हेक्टेयर भूमि वाले इस श्रेणी में नहीं आएंगे। इसमें अन्य मानक भी तय किए गए हैं। डेढ़ लाख से अधिक आय वाले और पांच लाख से कम आए वाले उपभोक्ता पीले कार्ड की सेवा ले सकते हैं। लेकिन पांच लाख से अधिक आय वाले परिवारों को पीले कार्ड जमा कराने होंगे। 

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल समेत कुमाऊं के चार जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी

Join-WhatsApp-Group
To Top