Nainital-Haldwani News

सुहानी जोशी ने इंटर में हासिल किए 92 प्रतिशत अंक,रोजाना 6 KM पैदल चलकर जाती थी स्कूल


हल्द्वानी: उत्तराखंड बोर्ड के नतीजे सामने आ गए हैं। अधिकतर बच्चों की कहानी प्रेरणादायक है। बागेश्वर जिले को टॉप करने वाले हाईस्कूल के जीवन जोशी के बाद हम आपको सुहानी जोशी की कहानी बताने जा रहे हैं। सुहानी ने इंटर में 92 प्रतिशत अंक हासिल किए। सुहानी आर्ट्स की छात्रा है। नके पिता का नाम राजेन्द्र जोशी है, जो गाँव में एक निजी नौकरी करते हैं। वहीं मां मीना जोशी एक हाउस वाइफ हैं।

बेतालघाट ब्लॉक के सीम गाँव निवासी सुहानी जोशी के लिए साल 2021 चुनौती लेकर आया। सुहानी जोशी 5 वर्ष पूर्व वह पढ़ाई के लिए अपने गांव सीम से खैरना आई थी लेकिन दो साल पहले आई आपदा में उनका किराये का घर पूरा शिप्रा नदी में बह गया जिसमे घर के सामान के अलावा उनकी किताबे भी थी। इसके बाद सुहानी को परिवार ने गांव बुला लिया। इसके बाद वह रोज 6 किलोमीटर दूर राजकीय इंटर कॉलेज खैरना पढ़ने के लिए जाती थी। शिक्षा हासिल करने के लिए उन्हें रोजाना 14 किलोमीटर चलना पड़ता था। इसमें उनका 4-5 घंटा लगता था लेकिन सुहानी ने पढ़ने के लिए वक्त निकाला और 92 प्रतिशत अंक हासिल किए।

सुहानी का कहना है कि वो चुनौतियों से सामना करने में विश्वास करती है। वह लिखने में भी रूचि रखती है। वह स्क्रीनिंग राइटिंग करना चाहती है। इसके साथ ही सुहानी समाज के पिछड़े वर्ग के लिए काम करना चाहती हैं। उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद यानी उत्तराखंड बोर्ड की ओर से कक्षा 10वीं की बोर्ड परीक्षा का परिणाम गुरुवार, 25 मई को जारी किया गया। इस साल कक्षा 10वीं में कुल उत्तीर्ण प्रतिशत 85.17 फीसदी रहा है। उत्तराखंड बोर्ड 10वीं कक्षा की परीक्षा में 1,27,844 परीक्षार्थी शामिल हुए थे, इनमें से परिणाम में 1,08,890 परीक्षार्थी सफल रहे हैं। परीक्षा परिणाम में लड़कों का पास प्रतिशत 81.48 फीसदी तो लड़कियों का पास प्रतिशत 88.94 फीसदी रहा है। हालांकि, मेरिट सूची में लड़के, लड़कियों पर भारी पड़े हैं। टॉप-5 में से चार स्थान छात्रों ने कब्जाए हैं।  

To Top