National News

आप बहुत याद आएंगे नट्टू काका, कभी पाई पाई के लिए किया 24 घंटे नॉन स्टॉप काम


आप बहुत याद आएंगे नट्टू काका, कभी पाई पाई के लिए किया 24 घंटे नॉन स्टॉप काम

नई दिल्ली: टीवी के कलाकार कहने को तो बस पर्दे के पीछे से हमारा मनोरंजन करते हैं। लेकिन कुछ कलाकार हमारे दिल पर ऐसी छाप छोड़ते हैं कि वे जिंदगी का हिस्सा बन जाते हैं। आज के दौर में हर घर का फेवरेट शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा के हरफनमौला किरदारों में से एक नट्टू काका का किरदार निभाने वाले घनश्याम नायक का 77 साल की उम्र में निधन हो गया है।

Ad

बता दें कि सालों से तारक मेहता का उल्टा चश्मा नाटक ने बच्चों, युवाओं से लेकर हर वर्ग के लोगों में अपनी पकड़ बनाई है। शो का हर किरदार दर्शकों के दिल में उतर चुका है। जेठालाल की दुकान पर काम संभालने वाले नट्टू काका को दर्शकों ने हमेशा ही विशेष प्यार दिया है। मगर भगवान के आगे किसी की नहीं चलती। नट्टू काका का रोल निभाने वाले घनश्याम नायक ने बीते दिन अंतिम सांस ली।

बचपन से ही एक्टिंग के क्षेत्र में काम कर घनश्याम नायक को पहला ब्रेक 1960 में आई फिल्म मासूम में मिला था। जिसमें उन्होंने बतौर चाइल्ड आर्ट‍िस्ट काम किया था। इसके बाद उन्होंने बॉलीवुड की कई हिट फिल्मों में काम किया। जैसे हम दिल दे चुके सनम में वह विट्ठल काका के रोल में दिखे थे। घनश्याम नायक बेटा, तिरंगा, आंखें से लेकर चाइना गेट, तेरे नाम और खाकी समेत कई फिल्मों का हिस्सा रहे।

टीवी में भी घनश्याम नायक ने अपना लोहा मनवाया था। ख‍िचड़ी, एक महल हो सपनों का, दिल मिल गए, सारथी, साराभाई वर्सेज साराभाई जैसे प्रसिद्ध शो में जान डालने का काम घनश्याम नायक ने ही किया। अपने तंगी के दिनों को याद करते हुए वह हमेशा कहते थे कि एक दौर ऐसा भी था जब वे 3 रुपये के लिए 24 घंटे काम किया करते थे। उन दिनों फिल्म इंडस्ट्री में ज्यादा पैसे नहीं मिलते थे।

घनश्याम नायक को ना जाने कितनी बार अपने पड़ोस‍ियों से उधार लेकर बच्चों की स्कूल फीस भरनी पड़ी। मगर एक्टिंग से जुड़े रहने का फल उन्हें तारक मेहता का उल्टा चश्मा शो से जुड़ने के बाद मिला। घनश्याम नायक देखते देखते दर्शकों के फेवरेट नट्टू काका बन गए। शोहरत ने भी धीरे धीरे अपना रुख घनश्याम नायक की ओर किया। उन्होंने अपनी मेहनत से मुंबई में दो घर खरीदे।

लेकिन कोरोना काल ने हर किसी की तरह घनश्याम नायक को भी परेशान कर दिया। कैंसर के बीमारी से जूझ रहे घनश्याम की हालत कोरोना काल में और खराब हो गई। उनके गले का ऑपरेशन कर डॉक्टरों ने करीब आठ गांठे निकली थीं, बाद में घनश्याम की कीमोथेरेपी चली। वे अपना इलाज करवाने के बाद काम पर वापस आने का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे।

उन्होंने पिछले साल एक इंटरव्यू में कहा भी था ‘मेरा कैंसर का इलाज चल रहा है और उम्मीद करता हूं कि सब कुछ जल्द ही ठीक हो जाएगा। मुंबई में जल्द शूटिंग शुरू हो और मैं काम पर वापसी करूं.। मैं बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं। कीमोथेरेपी महीने में एक बार होती है। डॉक्टर्स का कहना है कि मैं काम कर सकता हूं और इसमें किसी भी तरह की समस्या नहीं है।’

मगर घनश्यान नायक अब कभी नट्टू काका बनकर दर्शकों को नहीं हंसा सकेंगे। एक किरदार जिसने लोगों को ठहाके लगाने के कारण दिए, वह हमारे बीच नहीं रहा। एक नेक दिल इंसान इस दुनिया से विदा हो गया। इस मौके पर पूरे सोशल मीडिया पर नट्टू काका को श्रद्धांजलि देती पोस्ट वायरल हो रही हैं। नामी ग्रामी लोग भी घनश्याम नायक को नमन कर रहे हैं। गौरतलब है कि अब उनके निधन के बाद शो में उनकी कमी खलेगी।

To Top