Uttarakhand News

उत्तराखंड को आप पर गर्व है…NSA अजीत डोभाल भारत के 10 सबसे शक्तिशाली लोगों में शामिल


Ad
Ad

नई दिल्ली: देश के सबसे महत्वपूर्ण और बड़े बड़े पदों पर पहुंचकर आज उत्तराखंड वासियों ने राज्य के हर निवासी को गर्व महसूस करने का मौका दिया है। भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल इस लिस्ट में टॉप पर हैं। अजीत डोभाल को इंडियन एक्सप्रेस के 100 पॉवरफुल लोगों की सूची में जगह मिली है। उन्हें इस सूची में टॉप 10 में स्थान मिला है। बता दें कि इस लिस्ट में पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह जैसे बड़े नाम शामिल हैं।

Ad
Ad

इंडियन एक्सप्रेस की तरफ से भारत के 100 सबसे शक्तिशाली लोगों की सूची जारी की गई है। जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले स्थान पर काबिज हैं। इस लिस्ट में अमित शाह, योगी आदित्यनाथ, आरएसएस के मोहन भागवत, मुकेश अंबानी, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और सपा प्रमुख अखिलेश यादव का नाम भी शामिल है। इस लिस्ट में पीएम नरेंद्र मोदी के बेहद करीबी माने जाने वाले देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल आठवें स्थान पर हैं।

इसमें कोई दोराय नहीं कि अजीत डोभाल को मोदी सरकार में सबसे शक्तिशाली अधिकारी के रूप में जाना जाता है। राष्ट्रीय सुरक्षा के प्रबंधन में कई सालों का अनुभव रखने वाले अजीत डोभाल की राय मोदी सरकार के कई अहम फैसलों में झलकती है। देश और विदेश में चुनौतियों का सामना करने के लिए भी अजीत डोभाल को मोदी सरकार का बड़ा सहायक माना जाता है। बता दें कि आईपीएस अजीत कुमार डोभाल (सेवानिवृत्त) 30 मई 2014 से भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हैं। गौरतलब है कि डोभाल भारत के पांचवे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड के लोगों के लिए खुशखबरी, बिजली की दरें नहीं बढ़ा पाएगा UPCL

साल 1945 में अजीत डोभाल को जन्म उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल में हुआ था। एक गढ़वाली परिवार से आने वाले डोभाल की शुरुआती शिक्षा अजमेर के मिलिट्री स्कूल से पूरी हुई थी। जिसके बाद उन्होंने आगरा विश्वविद्यालय से अर्थशास्त्र में एमए किया। बाद में उन्होंने आईपीएस की तैयारी शुरू की। ये अजीत डोभाल की कड़ी मेहनत और लगन का नतीजा था कि उन्हें केरल कैडर से 1968 में आईपीएस के लिए चुन लिए गया। वह 2005 में इंटेलिजेंस ब्यूरो यानी आईबी के चीफ के पद से रिटायर हुए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  टेस्ट क्रिकेट में देवभूमि के ऋषभ पंत का कारनामा, अब सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ दिया

बता दें कि अजीत डोभाल सक्रिय रूप से मिजोरम, पंजाब और कश्मीर में उग्रवाद विरोधी अभियानों में शामिल रहे हैं। बताया जाता है कि सुरक्षा से संबंधित मामलों की देखरेख करने में माहिर माने जाने वाले डोभाल रूस-यूक्रेन संकट पर प्रमुख निर्णय लेने वालों में से एक रहे हैं। वहां फंसे हुए भारतीयों को निकालने में उनकी अहम भूमिका देखी गई। अजीत डोभाल की यही कार्यशैली और प्रभावशील व्यक्तित्व इंडियन एक्सप्रेस की सबसे ताकतवर लोगों की सूची में झलकता है। जहां उन्हें आठवां स्थान मिला है। 2021 में अजीत डोभाल इस सूची में सातवें स्थान पर थे।

Join-WhatsApp-Group
Ad
Ad
Ad
To Top