Dehradun News

अंकिता हत्या मामले में बड़ा एक्शन, अधिकारी की हो गई छुट्टी

Ad
Ad
Ad
Ad

ऋषिकेश: प्रदेशभर में अंकिता भंडारी के हत्यारों को फांसी दिलाने के लिए आक्रोशित लोग सड़कों पर उतरे हुए हैं। सरकार भी लगातार एक्शन ले रही है। इस बार प्रशासन की तरफ से बड़ी खबर सामने आई है। जिलाधिकारी द्वारा प्रारंभिक जांच आख्या के आधार पर राजस्व उपनिरीक्षक उदयपुर तहसील यमकेश्वर के वैभव प्रताप सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बता दें कि उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी।

जिलाधिकारी डॉ विजय कुमार जोगदंडे द्वारा आदेश जारी किया गया है। जिसके आधार पर यमकेश्वर में दिनांक 26 सितंबर को प्रारंभिक जांच आख्या प्राप्त हुई। अंकिता भंडारी हत्याकांड में राजस्व पुलिस द्वारा एफ आई आर दर्ज करने में देरी हुई थी। जिसे लेकर लोगों में रोष व्याप्त है। जिसकी जांच में वैभव प्रताप सिंह की लापरवाही सामने आई है।

जांच के अनुसार ग्राम गंगा भोगपुर तल्ला पट्टी उदयपुर तहसील यमकेश्वर के राजस्व निरीक्षक वैभव प्रताप सिंह 20 सितंबर से 23 सितंबर तक अपने पिता के स्वास्थ्य का हवाला देते हुए 4 दिन के आकस्मिक अवकाश पर चले गए थे। जबकि अंकिता के लापता होने की सूचना 19 सितंबर को उप निरीक्षक को प्राप्त हुई थी। अंकिता भंडारी के पिता से दूरभाष पर वार्ता कर इस घटना की जानकारी उनको भी दी गई।

यह भी पढ़ें 👉  देवभूमि के पहाड़ों की कायल हुईं करिश्मा कपूर, वायरल हो गई इंस्टाग्राम की पोस्ट

मगर उनके द्वारा इस संबंध में कोई भी प्रभावी कार्यवाही नहीं की गई। ना ही इस प्रकरण को अवकाश पर जाने से पूर्व अंकिता भंडारी के गुमशुदा होने की सूचना उच्चाधिकारियों को दी गई। जिससे कि इस प्रकरण पर तत्काल कार्रवाई की जा सकती थी। अब जिलाधिकारी द्वारा एक्शन लिया गया है और वैभव प्रताप सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड बना बॉलीवुड का फेवरेट, अब विक्की कौशल और तापसी पन्नू करेंगे शूटिंग
Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top